DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिहार  ›  सीतामढ़ी  ›  तंबाकू सेवन से मनुष्य का जीवन बन जाता है नरक

सीतामढ़ीतंबाकू सेवन से मनुष्य का जीवन बन जाता है नरक

हिन्दुस्तान टीम,सीतामढ़ीPublished By: Newswrap
Tue, 01 Jun 2021 03:10 PM
तंबाकू सेवन से मनुष्य का जीवन बन जाता है नरक

शिवहर | हिन्दुस्तान प्रतिनिधि

विश्व तंबाकू निषेध दिवस के अवसर पर सोमवार को सरोजा-सीताराम सदर अस्पताल के सभागार में सीएस डॉ. राजदेव प्रसाद सिंह की अध्यक्षता में कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें तंबाकू निधेष से संबंधित शपथ अधिकारियों, कर्मियों तथा अन्य लोगों को दिलायी गयी। मरीजों को तथा उनके परिजन को तंबाकू के सेवन से होने वाले खतरनाक बीमारियों के बारे में जानकारी दी गई। कार्यक्रम में लोगों ने शपथ लिया कि जीवन में हम कभी भी तंबाकू उत्पादों का सेवन नहीं करेंगे एवं अपने परिजनों परिचितों को भी तंबाकू उत्पादों एवं किसी भी नशे का सेवन नहीं करने के लिए प्रेरित करेंगे। सदर अस्पताल के ओपीडी, इमरजेंसी, डीएचएस तथा अन्य कार्यालयों के बाहर बैनर पोस्टर लगाकर तंबाकू के से परहेज करने के लिए लोगों को जागरूक किया गया। सीएस ने कहा कि तंबाकू के सेवन से मनुष्य का जीवन नरक बन जाता है। लोग भले ही इसका मजा दिन भर के कुछ समय के लिए लेते हैं, लेकिन यह मजा कब जिंदगी भर की सजा बन जाए, अंदाजा नहीं लगा सकते।

लोगों को तंबाकू मुक्त समाज और इसके खतरों से बचाने के लिए पूरे विश्व भर में विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा विश्व तंबाकू निषेध दिवस को आरंभ किया गया। तंबाकू के बारे में लोगों को जागरूक करने की जरूरत है। गैर संचारी रोग पदाधिकारी डॉ. सुरेश राम ने कहा कि तंबाकू उनलोगों के लिए भी खतरनाक हैं जो तंबाकू सेवन करने वालों के आसपास रहते हैं। कहा कि तंबाकू से न सिर्फ एक आदमी का स्वास्थ्य बिगड़ता है बल्कि पूरे परिवार के स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ता है। मौके पर डॉ. जियाउद्दीन जावेद, जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ. अरुण कुमार, सदर अस्पताल के चिकित्सक डॉ. अजय कुमार जिला स्वास्थ्य समिति के डीपीएम पंकज कुमार मिश्र, साइकोलॉजिस्ट मीनाक्षी कुमारी आदि उपस्थित थे।

सभी कार्यालय परिसर तंबाकू मुक्त घोषित

जिले के सभी सरकारी व गैर सरकारी कार्यालय एवं परिसर को तंबाकू मुक्त घोषित कर दिया गया है। पिछले साल ही कोरोना वायरस के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए जिला पदाधिकारी के द्वारा आदेश जारी किया गया था जिसमें निर्देशित किया गया कि कोई भी व्यक्ति सार्वजनिक स्थानों पर तंबाकू एवं तम्बाकू उत्पादों अथवा कोई अन्य पदार्थों का सेवन कर के यत्र-तत्र थूकने पर छह माह का कैद अथवा 200 रुपये जुर्माने का निर्देश दिया गया है। जिले में तंबाकू का सेवन कर के यत्र तत्र थूकने पर जुर्माने का प्रावधान किया गया है। छह माह की जेल भी हो सकती है । इधर-उधर थूकने से कोरोना वायरस के फैलने का खतरा ज्यादा है। किसी भी सरकारी या गैर सरकारी कार्यालय एवं परिसर में किसी भी प्रकार का तंबाकू पदार्थ, सिगरेट, खैनी, गुटखा, पान मसाला, जर्दा आदि का उपयोग पूर्णत: प्रतिबंधित है।

संबंधित खबरें