DA Image
16 जनवरी, 2021|10:06|IST

अगली स्टोरी

पिपराही में बागमती नदी पर बना बिंधी सड़क पुल क्षतिग्रस्त, परेशानी

default image

सीतामढी जिला को शिवहर जिला से जोड़ने वाला नारायणपुर-भगवानपुर मुख्य पथ में पुरानी बागमती नदी पर बना बिंधी पुल वर्षों से क्षतिग्रस्त होकर जानलेवा बना हुआ है जिससे इस होकर बङे वाहनों का आवागमन बाधित है।

क्षतिग्रस्त पुल होकर किसी तरह छोटे वाहनों का परिचालन हो रहा है जिससे वाहनों के दुर्घटनाग्रस्त होने की संभावना बनी रहती है। स्क्त्रू पाइल्स पुल का टर्फ प्लेट क्षतिग्रस्त होकर वहां गड्ढा बन आया है। जिस होकर आने जाने में भी लोगों को भय लगता है। पुल के साथ साथ इसका पहुंच पथ भी क्षतिग्रस्त हो चुका है। पुल के बीचोबीच बड़ा बड़ा गड्ढा बन आया है। पूर्व में इस महत्वपूर्ण पथ होकर बङे वाहनों का आवागमन हमेशा होता रहता था। किन्तु पुल के क्षतिग्रस्त होने से इस होकर केवल छोटे एवं दुपहिया वाहन ही किसी तरह आ जा रहें है। रात के अंधेरा में इस गड्ढा में फंसकर वाहनों के दुर्घटनाग्रस्त होने की संभावना बनी रहती है। समय रहते अगर पुल की मरम्मत नहीं करायी गई तो कभी भी किसी घटना से इंकार नहीं किया जा सकता है। गौरतलब हो कि इसी पुल होकर पिपराही एवं पुरनहिया प्रखंड के कई गांव के गन्ना उत्पादक किसानों को अपने गन्ना को टायर गाङी तथा ट्रैक्टर द्वारा खेतो से अपना गन्ना रीगा चीनी मिल को पहुंचाना होता है। पुल के क्षतिग्रस्त रहने से किसानों को कुअमा होकर लंबी दूरी तय कर रीगा जाना पङ रहा है। क्षेत्र के पकङी, नारायणपुर, छतौना, शंकरपुर बिंधी, विशुनपुर, मोहनपुर सहित कई गांवों के गन्ना उत्पादक किसानों को गन्ना भेजने में परेशानी होती है। बिंधी पुल से रीगा चीनी मिल की दूरी मात्र 12 किलोमीटर है। किन्तु पुल के क्षतिग्रस्त रहने से किसानों को 22 किलोमीटर लंबी दूरी तय कर रीगा चीनी मिल जाना पङता है। गन्ना उत्पादक किसान नवल किशोर राय, उमेश महतो, प्रभात शरण, रामचंद्र राय सहित कई किसानों ने बताया कि क्षतिग्रस्त पुल की मरम्मत के लिए विभाग को कितनी बार सूचना दी गई। लेकिन विभाग द्वारा क्षतिग्रस्त पुल की मरम्मत नहीं करायी जा रही है। पुल के अभाव में क्षेत्र के किसानों को लंबी दूरी तय कर दूसरे रास्ते से गन्ना भेजना पङता है। वहीं क्षेत्र के लोगों को सीतामढी आने जाने के लिए यह महत्वपूर्ण सङक पुल है। मालूम हो कि जिला परिषद अध्यक्ष निलम देवी ने दो वर्ष पूर्व ग्रामीण विकास विभाग के अभियंता प्रमुख को पत्र भेजकर

क्षतिग्रस्त शंकरपुर बिन्धी पुल एवं इसके पहुँच पथ का निर्माण कराकर आवागमन चालू कराने का अनुरोध किया था। पत्र में कहा गया था कि इस पुल एवं इसके पहुँच पथ के क्षतिग्रस्त रहने से इस होकर वाहनों का आवागमन बाधित है। क्षेत्र के किसान सैकड़ों एकड़ में गन्ना की खेती करते हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Bindi road bridge over Bagmati river in Piprahi damaged trouble