DA Image
29 सितम्बर, 2020|4:13|IST

अगली स्टोरी

राज्य का नंबर वन डेहरी नप की खुली पोल, बारिश से शहर हुआ पानी-पानी

default image

डेहरी। एक संवाददाता

नगर परिषद जहां एक ओर स्वच्छता सर्वेक्षण में राज्य का नंबर वन नगर परिषद होने का श्रेय प्राप्त कर जश्न मना रहा है। वहीं शहर के लोग गंदगी व जलजमाव से जूझ रहे हैं। बुधवार की सुबह बारिश में नगर परिषद के स्वच्छता सर्वेक्षण की हवा निकाल दी है। आधा शहर डूब गया है। नगर परिषद के सभी 39 वार्डों में जलजमाव की स्थिति भयावह हो गई। सैकड़ो घरों में वर्षा के पानी सहित नाली का पानी प्रवेश कर गया है। जिसे निकालने के लिए गृह स्वामियों को काफी मशक्कत करनी पड़ी। बर्तनों से घंटों पानी उढ़ेलने के बाद घरों का पानी निकला। लेकिन, नगर परिषद अभी भी अपनी वाहवाह बनी हुई है। जब से स्वच्छता सर्वेक्षण में नंबर वन का ख्याति मिला, तब से नप के अधिकारी से कर्मचारी व पार्षद लोगों के बीच मजाक के पात्र बने हुए हैं। आखिर किस आधार पर नगर परिषद को स्वच्छता सर्वेक्षण में प्रथम स्थान दिया गया है। इसके लिए नगर परिषद की पात्रता क्या है, यह चर्चा आम है।

शहर के जल निकासी के लिए बने सभी ड्रेनेज सिस्टम फेल हैं। फिर भी नगर परिषद नंबर वन है। घंटे भर की बरसात झेलने की क्षमता नगर परिषद के नालों में नहीं है। यदि लगातार 24 घंटे बारिश हो गई तो शहर का हाल क्या होगी, इसकी कल्पना कर शहरवासियों की रूंह कांप जाती हैं। शहर की सफाई व्यवस्था पर नप अधिक राशि खर्च कर रही है लेकिन, सफाई कार्य करने वाली गैर सरकारी संगठन को उपयोगिता पत्र किस आधार पर दिया गया है। जबकि शहर के गली-गली बयां कर रही है कि स्थिति नारकीय है। शहर के निवासियों का कहना है कि शहर के लोग गंदगी व जलजमाव से जूझ रहे हैं। नगर परिषद में सफाई कार्य करने वाली एनजीओ लूट मचाई है, सफाई कार्य शून्य है। जिसकी गवाही शहर में हुई जलजमाव व शहर की बदहाल स्थिति बयां कर रही है।

डेहरी नप अब तक ओडीएफ घोषित नही

बताया जाता है कि डेहरी शहर को अब तक ओडीएफ घोषित नहीं किया गया है। खुले में शौच निर्बाध रूप से चल रहा है। शहर में एक भी डीलक्स शौचालय नहीं है। सलम क्षेत्रों में बने सामुदायिक शौचालय का हाल बुरा है। किसी में दरवाजा है, तो सीट नहीं, सीट है तो पानी की टंकी नहीं, पानी की टंकी है तो चापाकल चोर ले गए। ऐसे में शौचालय का उपयोग कैसे करेंगे। जो चलंत शौचालय नगर परिषद के द्वारा खरीद कर लाई गई थी, शहर में कहीं दिख नहीं रहा है। आश्चर्य की बात है कि शहर की मुख्य पार्षद महिला हैं उस शहर में महिलाओं के लिए एक शौचालय नहीं है।

क्या कहते हैं अधिकारी

इस संबंध में नप के ईओ सुशील कुमार सिंह ने कहा कि अधिक वर्षा होने से शहर में जलजमाव की स्थिति हो गई है। जलजमाव से निजात के लिए नए नालों के निर्माण के लिए नप शीघ्र ही डीपीआर तैयार कर निर्माण कराएगी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:State 39 s number one dehri nap open pole rain rains city