DA Image
27 अक्तूबर, 2020|9:52|IST

अगली स्टोरी

गर्भे गांव की गलियों में बह रहा गंदा पानी

default image

करगहर। एक संवाददाता

ठोरसन पंचायत के गर्भे गांव में दस वर्षों से गलियों में गंदा पानी बह रहा है। इसे लेकर ग्रामीणों को प्रतिदिन आने जाने में काफी परेशानी होती है। इस विधान सभा चुनाव में ग्रामीणों ने निर्णय लिया है कि गलियों में बह रहे गंदे पानी से प्रत्याशियों को रुबरु कराया जाएगा। ग्रामीण सुरेश पासवान, रामजी पावक, चंद्रभान सिंह, नकुल पासवान ,रामप्रवेश राम, सुरेंद्र लाल, भुअर राम ,राम कैलाश राम ,जमींदार सिंह व पिंटू सिंह ने बताया कि सोलह साल पूर्व महादलित टोले में ईंट सोलिंग का कार्य कराया गया था। 10 साल पूर्व गलियों में बिछे ईंट उखड़ गए। नालियां टूट गईं और घरों से निकलने वाला गंदा पानी गलियों में बहने लगा। अब सालों भर गलियों में गंदा पानी का बहता है।

उन्होंने बताया कि गांव के समीप सरकारी भूमि पर एक एकड़ 20 डिसमिल में पोखरा बना है। जहां से छठ घाट निर्माण के लिए मुखिया व जनप्रतिनिधियों से मांग की जा रही है, लेकिन किसी ने ध्यान नहीं दिया। पोखरा भी अतिक्रमण का शिकार है। दूसरी ओर मुख्यमंत्री की महत्वाकांक्षी योजना हर घर जल नल का कार्य अभी तक शुरू नहीं हो सका है। गंदे पानी के जमाव से निजात पाने के लिए मुखिया से कई बार पीसीसी रोड व नाली के निर्माण कराने की मांग की गई। लेकिन, वे सिर्फ आश्वासन देते रहे हैं। बीडीओ को भी आवेदन दिया गया है। लेकिन, अबतक कोई कार्रवाई नहीं हुई है। ।

फोटो नंबर-4

कैप्शन- ठोरसन ग्राम पंचायत के गर्भे स्थित महादलित टोला के गली में बहता गंदा पानी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Dirty water flowing down the streets of Garbha village