DA Image
हिंदी न्यूज़ › बिहार › समस्तीपुर › उद्घाटन के पूर्व ही जगह जगह उखड़ने लगा वरुणा पुल
समस्तीपुर

उद्घाटन के पूर्व ही जगह जगह उखड़ने लगा वरुणा पुल

हिन्दुस्तान टीम,समस्तीपुरPublished By: Newswrap
Sun, 01 Aug 2021 10:41 PM
उद्घाटन के पूर्व ही जगह जगह उखड़ने लगा वरुणा पुल

दो साल से बनकर तैयार वरुणा पुल उद्घाटन के पूर्व ही उखड़ने लगा है। इससे लोगों को यह चिंता सताने लगी है कि समय से पहले ही पुल क्षतिग्रस्त हो जाने से पुन: पहले की तरह कष्ट न उठाना पड़े। विदित हो कि जिला मुख्यालय से राजधानी पटना जाने के लिए एनएच 322 पर वरुणा पुल का निर्माण कराया गया था। जो दो साल से बन कर तैयार है। समस्तीपुर से पटोरी तक के जनप्रतिनिधियों ने इसके लिए वर्षों आंदोलन किया था। जिसके बाद 2006 में छह करोड़ से पहली बार निर्माण के लिए टेंडर हुआ। 2007 की बाढ़ के बाद कोई खास क्षति नहीं होने के बावजूद संवेदक ने पुल बनाना छोड़ कर हाथ खींच लिया। फिर 2008 में 8 करोड़ से नए सिरे से निर्माण के लिए टेंडर कराया गया। तीन साल में तीन फुट भी पुल निर्माण नहीं होने से 2009 के सरायरंजन के विकास यात्रा के दौरान मुख्यमंत्री से शिकायत की गई। उसके बाद 2010 में तीसरी बार फिर से 9 करोड़ में वरुणा पुल निर्माण के लिए टेंडर कराया गया। पटना के संवेदक द्वारा निर्माण कार्य शुरू कराए जाने के बाद पुल के नीचे पहाड़ निकलने से कई वर्षों के बाद कोलकाता से अभियंता मंगा कर पहाड़ काटकर पुल निर्माण शुरू हुआ। फिर अचानक निर्माण के दौरान आर्टिजन बेल निकल जाने से अंदर से पानी का आना रुक नहीं रहा था। फिर संपूर्ण देश के अनुभवी अभियंताओं को बुलाकर किसी प्रकार से आर्टिजन बेल को बंद कर पुल निर्माण शुरू किया गया।

आखिरकार 2018 के अंत तक वरुणा पुल बनकर तैयार हो गया। तब से वरुणा पुल के उद्घाटन की प्रतीक्षा की जा रही है। अभियंताओं द्वारा स्वीकृति नहीं मिलने के कारण अब तक इसका उद्घाटन नहीं किया जा सका है। वहीं विगत एक वर्ष से नवनिर्मित पुल में जगह-जगह पुल की परतें उखड़ने लगी हैं। जिन्हें पैचअप कर मरम्मत कर दिया जाता है। कई जगह की मरम्मत के बावजूद फिर से कई जगहों पर पुल की पड़तें उखड़ने से अंदर के लोहे की छड़ें दिखाई पड़ने लगी हैं। कई महीनों से इसकी मरम्मत नहीं किए जाने से कई स्थानों से पुल की परतों का टूटना शुरू हो गया है। उत्तर बिहार के लोगों को पटना जाने के लिए लाइफलाइन साबित होने वाले वरुणा पुल के उद्घाटन के पूर्व ही क्षतिग्रस्त होना शुरू होने से, इसके गुणवत्तापूर्ण निर्माण के प्रति लोगों में आशंका उत्पन्न होने लगी है। लगभग बारह वर्षों तक चले निर्माण कार्य के बाद , नये पुल के फिर से क्षतिग्रस्त होने की आशंका से ही लोगों में हताशा छाने लगी है।

वरुणा पुल जर्जर होने से राहगीर परेशान

सरायरंजन पटना से नेपाल को जोड़ने वाले वरूणा पुल जर्जर होने लगा है। इस पुल से दिन रात हजारों वाहन के अलावा पैदल और साईिकल से लोग आवागमन करते हैं। पुल के जर्जर होने से राहगीरों को आवागमन में भारी परेशानी हो रही है। आये दिन दुर्घटना का भी लोग शिकार हो रहे हैं। स्थानीय लोगों एवं राहगीरों ने वरूणा पुल की मरम्म्त कराने की मांग की है।

संबंधित खबरें