DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बर्बाद हो रहे नप के ट्रैक्टर, सेफ्टी टैंक व चलंत शौचालय

बर्बाद हो रहे नप के ट्रैक्टर, सेफ्टी टैंक व चलंत शौचालय

नगर परिषद के विभिन्न वाहन यथा ट्रैक्टर, सैफ्टी टैंक व चलंत शौचालय रखे-रखे बर्बाद हो रहे हैं। इनकी देखभाल करने वाला कोई नहीं है। धीरे-धीरे इनके पार्ट्स पुर्जे भी गायब होते जा रहे हैं। फिर भी नगर परिषद प्रशासन अभी तक इसके प्रति गंभीर नहीं है। ये सभी वाहन शहर के सरकारी बस पड़ाव परिसर में कई सालों से रखे हुए हैं। इन्हें नगर भवन परिसर जो कि नगर परिषद के अधीन है, में रखने के बदले सरकारी बस पड़ाव में लम्बे समय से लावारिश हालत में छोड़ कर सरकारी सम्पत्ति को नष्ट कराने का मतलब लोगों की समझ से परे है।

गौरतलब है, कि बस पड़ाव में नगर परिषद के चार ट्रैक्टर रखे हैं जिनका इस्तेमाल नहीं कर नगर परिषद द्वारा भाडे़ के ट्रैक्टर का इस्तेमाल कर सरकारी राशि की चपत लगायी जा रही है। दो सैफ्टी टैंक और चार चलंत शौचालय वाहनों के पार्ट्स गायब हो चुके हैं। एक जमाने से ये यहां रखे रखे सड़ गए। इनके कई पार्ट्स गायब हो चुके हैं। सरकारी सपंत्ति होने के कारण इनके पाट्स पुर्जे गायब होने की एफआईआर दर्ज करायी जानी चाहिए थी जो नगर परिषद प्रशासन ने आज तक नहीं दर्ज करायी। शहर के मलीन वस्ती में उपयोग कराने के लिए उक्त चंलत शौचालय वाहन नगर परिषद को खरीद कर दिए गए थे। लेकिन, इन वाहनों का भी वहां इस्तेमाल कभी हुआ। इसके कारण मलीन वस्ती के लोगों को जो शौचालयविहीन हैं, को शौच के लिए जहां तहां जाना पड़ता है। बता दें, कि सांसद कोटा से ये चलंत शौचालय खरीद कर नगर परिषद को दी गई थी। सैफ्टी टैंक की खरीद नगर परिषद के स्तर से की गई थी।

बयान

नगर भवन में जगह का अभाव है। इसके कारण इन वाहनों को सरकारी बस स्टैंड में रखा गया था। तब से वे वहीं पड़े हुए हैं। चलंत शौचालय का उपयोग लोगों के शादी समारोह में होता था। इसके अलावा विशेष जानकारी नहीं दे सकते हैं।

प्रेमशंकर, प्रभारी सफाई निरीक्षक, नगर परिषद, समस्तीपुर।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Tractor of the waste land safety tank and moving toilets