ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहार समस्तीपुरकृषि को लाभकारी बनाने को लागत मे करनी होगी कमी

कृषि को लाभकारी बनाने को लागत मे करनी होगी कमी

पूसा। केन्द्रीय कृषि व कल्याण मंत्रालय से जुड़े किसानो की आय दोगुनी करने वाले...

कृषि को लाभकारी बनाने को लागत मे करनी होगी कमी
हिन्दुस्तान टीम,समस्तीपुरSun, 10 Dec 2023 12:30 AM
ऐप पर पढ़ें

पूसा। केन्द्रीय कृषि व कल्याण मंत्रालय से जुड़े किसानो की आय दोगुनी करने वाले समूह के अध्यक्ष डॉ. अशोक दलवई ने कहा कि कृषि को लाभकारी बनाने के लिए उसकी लागत कम करने की जरूरत है। इसमें कृषि यांत्रिकरण को बढ़ावा देने, नई तकनीको व प्रभेदो का विकास करने एवं किसान उपयोगी बनाना तथा किसानो की जरूरत के अनुरूप शोध की दिशा तय करने की जरूरत है। इसके साथ ही किसानों को सेकेन्ड्री एग्रीकल्चर व नवीनतम तकनीको के उपयोग के प्रति जागरूकता जरूरी है। इस दिशा में सरकार व वैज्ञानिक लगातार प्रयासरत है। वे शनिवार को डॉ. राजेन्द्र प्रसाद केन्द्रीय कृषि विवि के पंचतंत्र सभागार में देशभर से आये कृषि अर्थशा्त्रिरयों को संबोधित कर रहे थे। मौका था कृषि में स्थायी खाद्य प्रणाली और किसानों की आय के लिए नवाचार विषय पर तीन दिवसीय 31वें वार्षिक अधिवेशन के समापन सत्र का। इस दौरान उन्होंने किसानों की आय को दोगुनी करने को लेकर सरकार की नई योजनाओं और उसे जमीनी स्वरूप देने पर विस्तार से चर्चा की। इस दौरान डॉ. ऋतंम्भरा ने सम्मेलन के दौरान की चर्चाओं एवं आम सहमति से लिये गये निर्णय पर विस्तार से प्रस्तुतिकरण दिया। आईएफपीआरआई के सचिव डा. अंजनी कुमार ने कार्यक्रम की सफलता के लिए विवि के कुलपति डॉ. पीएस पाण्डेय व आयोजन टीम की प्रशंसा की। स्वागत डॉ. डीके सिन्हा, संचालन डॉ. कुमारी अंजनी व धन्यवाद आयोजन सचिव सह डीन डॉ. केएम सिंह ने किया। प्रारंभ में कार्यक्रम की शुरुआत आईसीएआर, नई दिल्ली के जल प्रौद्यौगिकी केन्द्र के परियोजना निदेशक डॉ. पीएस ब्रहमानंद के मौसम में बदलाव एवं बचाव की कृषि तकनीक, मौसम अनुसंधान केन्द्र के परियोजना निदेशक डॉ. आरके झा के शोध पत्र की प्रस्तुति से की गई। मौके पर डॉ. रामकेवल प्रसाद सिंह, डॉ. पुष्पा सिंह, डीन डॉ. पीपी श्रीवास्तव, डॉ. वीके शर्मा, डॉ. सतीश कुमार सिंह, कुमार राजवर्द्धन समेत अन्य वैज्ञानिक मौजूद थे।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें