DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बूढ़े बाप के सामने उठायी गयी जवान बेटे की अर्थी

ताजपुर रोड का अतिक्रमण व मछली बाजार की भीड़ भाड़ और अनियंत्रित ट्रक ड्राइव ने फिर जहां एक मां की कोख खाली कर दी, वहीं विवाहिता की मांग सूनी कर दी। बुधवार की सुबह हुई घटना ने एक बार फिर प्रशासनिक कुव्यवस्था की पोल खोली। जिसके कारण लगुनियां सूर्यकंठ पंचायत के वार्ड संख्या 11 निवासी बबलू भगत की सड़क दुर्घटना के बाद स्थानीय लोग फिर से उबल पड़े।

आक्रोशित लोग फिर से ताजपुर रोड में बड़े वाहनों की नो इंट्री लगाने एवं सड़क किनारे अवैध तरीके से सजा मछली बाजार को हटाने की मांग करने लगे। जिसके बाद फिर से अधिकारी तो लोगों को आश्वासन की घंूटी पिलायी, लेकिन यह आदेश कब तक लागू होगा, यह लोगों के समक्ष यक्ष प्रश्न बनकर घूम रहा है। विदित हो कि लगुनिया निवासी बालालखिंद्र भगत के पुत्र बबलू भगत पलंबर मिस्त्री था। बुधवार की सुबह भी वह कई साइड पर लेबर को काम करने भेज दिया। साथ ही कुछ जरुरी सामान का आर्डर देकर लौट रहा था। इसी दैरान एक अनियंत्रित ट्रक ने उसे ठोकर मार दिया। जिससे उसकी मौत घटना स्थल पर ही हो गयी। इधर, इस मामले में बबलू के पिता के बाला लखिंद्र भगत के बयान पर ट्रक चालक के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज करायी है। पुलिस ने ट्रक को जब्त कर लिया है।

जवान बेटे की लाश देख बेहोश हुआ पिता : सदर अस्पताल में जवान बेटे की लाश देखते ही बबलू के पिता बालालखिंद्र भगत बेहोश हो गये। इसके बाद बबलू के भाई एवं अन्य की भी यही दशा थी। लोग पानी के छीटें देकर उसे होश में ला रहे थे, लेकिन बेटे की याद में चित्कार कर रोते-रोते बेहोश हो जा रहे थे। जबकि बबलू की मां पूर्व से ही अस्पताल में इलाजरत थी। इधर, पलंबर मिस्त्री होने के कारण शहर में बबलू भगत काफी चर्चित था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:The son of the young son raised in front of the old man