DA Image
हिंदी न्यूज़ › बिहार › समस्तीपुर › बेटियों के अधिकारों का हो संरक्षण और मिले प्रोत्साहन
समस्तीपुर

बेटियों के अधिकारों का हो संरक्षण और मिले प्रोत्साहन

हिन्दुस्तान टीम,समस्तीपुरPublished By: Newswrap
Mon, 11 Oct 2021 07:42 PM
बेटियों के अधिकारों का हो संरक्षण और मिले प्रोत्साहन

रोसड़ा। अब बेटियां किसी से कम नहीं है। हर क्षेत्र में बेटियों ने बढ़-चढ़ कर अपनी सफलता का परचम लहराया है। बेटियों के अधिकारों का संरक्षण और अपने अधिकारों के प्रति उन्हें जागरूक करने की आवश्यकता है। ये बातें सोमवार को एडीजे तृतीत द्विजेन्द्र कुमार ने अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर यूआर कॉलेज स्थित साक्षरता क्लब में बेटियों को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि बेटियां हर क्षेत्र में लड़कों से आगे निकल रही हैं। पर उनके इस उड़ान में लैंगिक समानता की बाधाएं रुकावट डालती है। बेटियों को इसके लिए जागरूक करने की आवश्यकता है। साथ ही संविधान प्रदत्त अधिकारों का संरक्षण भी आवश्यक है। उन्होंने कहा कि चाहे खेल का अंतरराष्ट्रीय मैदान हो या सीमा पर बंदूक उठाने का अवसर या फिर आकाश में जेट विमान उड़ाना हो, हर क्षेत्र में बेटियों ने अपना जलवा दिखाकर दुनिया को यह दिखा दिया है कि भारत की बेटियां भी अब किसी भी क्षेत्र में पुरुषों से पीछे नहीं है। अनुमंडल विधिक सेवा समिति के तत्वावधान में अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस पर आयोजित कार्यक्रम को अनुमंडल विधिक सेवा समिति के उपाध्यक्ष सह एसडीओ ब्रजेश कुमार, एसीजेएम द्वितीय एलएन त्रिपाठी, सचिव कुलदीप श्रीवास्तव, एसडीपीओ सहरियार अख्तर आदि ने भी संबोधित किया। इस अवसर पर कार्यक्रम में छात्राओं ने क्विज, निबंध, भाषण, पेंटिंग, कविता प्रतियोगिता में भाग लिया। उक्त प्रतियोगिताओं में प्रथम, द्वितीय और तृतीय स्थान प्राप्त करने वाली छात्राओं को पुरस्कार प्रदान कर प्रोत्साहित किया गया। कार्यक्रम का संचालन मैथिली विभागाध्यक्ष प्रो. प्रवीण कुमार प्रभंजन ने किया। मौके पर पैनल अधिवक्ता विनोद सिंह, कॉलेज कर्मी आशुतोष कुमार, राजेश कुमार, विष्णुदेव मंडल आदि मौजूद थे।

संबंधित खबरें