ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहार समस्तीपुरबारह पत्थर में युवक की लाश मिली ज्यादा नशा लेने से मौत की आशंका

बारह पत्थर में युवक की लाश मिली ज्यादा नशा लेने से मौत की आशंका

समस्तीपुर। शहर के बारह पत्थर चौरी में एक बार फिर एक अज्ञात युवक की लाश

बारह पत्थर में युवक की लाश मिली ज्यादा नशा लेने से मौत की आशंका
हिन्दुस्तान टीम,समस्तीपुरTue, 25 Jun 2024 12:15 AM
ऐप पर पढ़ें

समस्तीपुर। शहर के बारह पत्थर चौरी में एक बार फिर एक अज्ञात युवक की लाश मिली। युवक की लाश मिलने की सूचना से क्षेत्र में सनसनी फैल गयी। जिससे देखते ही देखते दर्जनों लोगों की भीड़ घटना स्थल पर जुट गयी। हालांकि युवक के शव की पहचान नहीं हो पायी। युवक हाफ पैंट व हाफ टीशर्ट में था।
घटना की सूचना मिलते ही नगर थाना के अपर थानाध्यक्ष प्रताप सिंह दल बल के साथ घटना स्थल पर पहुंचे और शव को जब्त कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। उन्होंने बताया कि शव की पहचान के लिए प्रयास किया जा रहा है। अभी तक उसकी पहचान नहीं हुई है। मृतक के पास कोई भी आईडी या कागजात नहीं मिला, जिससे उसकी पहचान की जा सके। पुलिस मामले की जांच में जुटी है। पोस्टमार्टम के बाद ही हत्या के कारणाों का खुलासा हो पाएगा।

डॉक्टर के मकान के पीछे मिली लाश:

बारह पत्थर में डॉ. सरोजनी लगी से चौरी जाने वाली रास्ते में चौरी में स्थित एक डॉक्टर के भवन के पीछे युवक की लाश सोमवार सुबह मिली। युवक का शव खजुर के पेड़ के नीचे पड़ा था। मृतक का दोनों पैर मुड़ा हुआ था। मुंह से झाग भी निकल रहा था। वहीं शव के आसपास नशीली दवा के दर्जनों रैपर, शीशी, डिस्पोजल सिरिंज सहित अन्य संदिग्ध सामान भी फेंका हुआ था। जिससे नशा का ओवर डोज लेने के कारण युवक के मौत की आशंका जतायी जा रही है।

खजूर के पेड़ के नीचे संदिग्धों का रहता आना-जाना: स्थानीय लोगों की मानें तो डॉक्टर के मकान के पीछे खजूर के पेड़ के पास दिन भर संदिग्धों का आना जाना लगा रहता है। घटना स्थल के तीन तरफ से दिवाल है, जिसके आड़ में युवक बैठकर नशा पान करता है। लोगों की बात मानें युवक के आने जाने की सूचना कई बार टाइगर मोबाइल को दी गयी। लेकिन आज तक कोई पहल नहीं किया जा सका।

शाम होते ही संदिग्ध युवकों का शुरू होता है आना

नशा के ओवर डोज के कारण पहले भी चौरी में युवक की लाश मिल चुकी है। लगभग डेढ़ वर्ष पूर्व भी आदर्शनगर के एक युवक की लाश मिली। जिसकी मौत भी ओवरडेज से होने की संभावना जतायी गयी थी। स्थानीय लोगों की मानें तो शाम होते ही चौरी में संदिग्ध युवकों का आना शुरू हो जाता है, जो देर शाम तक चौरी में रहता है। जिसके कारण आए दिन कई युवकों को बेहोशी की हालत में सहयोगी उठाकर भी ले जाते हैं।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।