DA Image
26 सितम्बर, 2020|9:07|IST

अगली स्टोरी

गन्ने को बीज के रूप में खरीदेगी चीनी मिल

default image

अगस्त-सितम्बर माह में रोपे गये गन्ने को हसनपुर चीनी मिल बीज के रूप खरीदेगी। जिसकी कटाई मार्च माह में करायेगी। किसानों को गन्ना रोपायी के लिए बीज उपलब्ध करायेगी। 1200 एकड़ में अर्द्धशालीन गन्ने की रोपायी का लक्ष्य रखा गया है। 10 एकड़ में गन्ने की रोपायी की गई है। अधिक बारिश होने के कारण रोपायी विलम्ब से शुरू किया गया।

इस संबंध में गन्ना उपाध्यक्ष शम्भू प्रसाद राय बताते हैं कि हसनपुर चीनी मिल परिक्षेत्र के किसान अलग अलग मौसम में गन्ना की खेती करते हैं। जून से 14 सितम्बर तक अर्द्धशालीन, 15 सितम्बर से जनवरी तक शरदकालीन, 3 फरवरी से 7 अप्रैल तक वसंतकालीन, 8 अप्रैल से 10 मई तक ग्रीष्मकालीन गन्ने की खेती होती है। किसानों ने सीओजीरो-238 की रोपाई कर रहे हैं। उक्त प्रभेद का उत्पादन 600-800 क्विंटल प्रति एकड़ होता है। पदाधिकारी ने बताया कि एक ओर उपरी भूमि में गन्ने की खेती बेहतर है। वहीं निचली भूमि में खेती करने वाले किसानों की पूंजी भी लौटने की उम्मीद नहीं है। निचली भूमि में पानी लगा हुआ है। धीरे धीरे गन्ने की फसल गलने लगी है। सैकड़ों एकड़ गन्ने की फसलें डूब गई है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Sugar mill will buy sugarcane as seed