DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

छात्र संगठनों ने फूंका आंदोलन का बिगुल

इंटर की परीक्षा में खराब रिजल्ट के लिए छात्र संगठनों ने राज्य सरकार को दोषी ठहराते हुए बुधवार को आंदोलन का बिगूल फूंक दिया। आइसा के कार्यकर्ताओं ने शहर में जुलूस निकाल सरकार के खिलाफ नारे लगाये और शिक्षा मंत्री के साथ मुख्यमंत्री का पुतला फूंका। वहीं अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने रिजल्ट पर असंतोष जताते हुए गुरुवार को शिक्षा मंत्री का पुतला फूंकने की घोषणा की है। बिहार अनुदानित इंटरमीडियट शिक्षक व शिक्षकेत्तर कर्मचारी महासंघ ने भी खराब रिजल्ट के लिए सरकार की शिक्षा नीति व व्यवस्था को दोषी ठहराते हुए मुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री से इस्तीफे की मांग की है। इंटर साइंस की परीक्षा में मात्र तीस प्रतिशत रिजल्ट आने से आक्रोशित आइसा के कार्यकर्ताओं ने बुधवार को शहर के बीआरबी कॉलेज से आक्रोश जुलूस निकाला। जो शहर के प्रमुख मार्गों से गुजरने के बाद पुन: बीआरबी कॉलेज के मुख्य द्वार पर पहुंच कर सभा में बदल गया। सभा में गंगा पासवान, मनीष राय, मनीष कुमार यादव, बिरजू सहनी, चंदन कुमार, आशुतोष कुमार, विजय शर्मा, अभिमन्यु शर्मा, देवेन्द्र कुमार, विष्णु कुमार, विकास कुमार, सुजीत कुमार आदि ने कहा कि इस बार इंटर साइंस में सबसे खराब रिजल्ट है। इसके लिए एकमात्र शिक्षा मंत्री दोषी है। उन्होंने कहा कि प्राथमिक व मध्य विद्यालय के शिक्षकों से उत्तरपुस्तिका का मूल्यांकन कराने के कारण यह स्थिति उत्पन्न हुई है। उन्होंने इसके लिए शिक्षा मंत्री को जिम्मेवार ठहराते हुए उनसे से इस्तीफा देने और सभी विषयों में छात्रों को 20 प्रतिशत ग्रेस अंक देने की मांग की। इधर,अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यालय में कार्यकर्ताओं की बैठक हुई। इसमें वक्ताओं ने परीक्षाफल में व्यापक त्रुटिया गिनाई और इसके लिए राज्य सरकार की अदूरदर्शी शिक्षा नीति व मूल्यांकन में हुई गड़बड़ी को जिम्मेवार ठहराया। उन्होंने कहा कि सरकार के कारण छात्रों का भविष्य खराब हुआ है। इसे किसी हालत में बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है। बैठक में इसके खिलाफ सर्वसम्मति से गुरुवार को राज्य के शिक्षा मंत्री का पुतला दहन करने का निर्णय लिया गया। यह जानकारी परिषद के कार्यालय मंत्री रामधनी कुमार ने दी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Students organizations blown up the movement