DA Image
हिंदी न्यूज़ › बिहार › समस्तीपुर › डकैती की साजिश रच रहे छह अपराधी गिरफ्तार
समस्तीपुर

डकैती की साजिश रच रहे छह अपराधी गिरफ्तार

हिन्दुस्तान टीम,समस्तीपुरPublished By: Newswrap
Sun, 01 Aug 2021 10:41 PM
डकैती की साजिश रच रहे छह अपराधी गिरफ्तार

रोसड़ा अनुमंडल की हसनपुर पुलिस को एक बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। पुलिस ने डकैती कांड को अंजाम देने की साजिश रच रहे चार अपराधियों को असलहे के साथ धर दबोचा है। इसमें हाल के दिनों में रोसड़ा व हसनपुर में हुए लूट मामले में संलिप्त दो आरोपी भी शामिल हैं। इन सबों के पास से पुलिस ने लूट की दो बाइक व एक मोबाइल भी बरामद की है। इस संबंध में रविवार को अनुमंडल पुलिस कार्यालय पर प्रेसवार्ता में एसडीपीओ सहरियार अख्तर ने बताया कि धराये आरोपियों में बिथान थाना क्षेत्र के सिहमा निवासी लालन यादव का पुत्र राजकिशोर कुमार उर्फ राजा, इसी गांव के घनश्याम यादव का पुत्र राजू यादव, खानपुर थाना क्षेत्र के हरिपुर घाट निवासी तरुण सहनी का पुत्र अरविंद सहनी, इसी गांव के स्व. राम उचित दास का पुत्र रामकुमार तथा हसनपुर थाना क्षेत्र के सुरहा बसंतपुर निवासी रामचन्द्र का पुत्र मनीष कुमार एवं बिथान के सिहमा का एक नाबालिग शामिल है।

वहीं इस मामले में बिथान के सिहमा निवासी राजेन्द्र यादव का पुत्र अनमोल व इसी गांव के सूरज पासवान का पुत्र संतोष पासवान फरार होने में सफल रहा। उन्होंने बताया कि शनिवार देर रात गुप्त सूचना प्राप्त हुई थी कि कुछ अपराधी हसनपुर थाना क्षेत्र के मेदो चौक के समीप किसी बड़ी घटना को अंजाम देने की साजिश रच रहे हैं। सूचना पर रोसड़ा एसडीपीओ सहरियार अख्तर के नेतृत्व में एक विशेष छापेमारी टीम का गठन किया गया। जिसमें हसनपुर थानाध्यक्ष पंकज कुमार, एएसआई जोगेन्द्र सिंह, विजय सिंह व पुलिसबल को शामिल किया गया। इसके बाद टीम ने मेदो चौक स्थित मंदिर के समीप छापेमारी की, जहां से डकैती की योजना बना रहे राजकिशोर, राजू, अरविंद और रामकुमार को गिरफ्तार किया। तालाशी में राजू के पास से एक लोडेड पिस्तौल मिली।

एसडीपीओ ने गिरफ्तार आरोपियों से जब सख्ती से पूछताछ की गई तो सभी ने कई कांडों में अपनी संलिप्तता स्वीकार करते हुए अहम राज उगले। इन सबों की निशानदेही पर ही लूट मामले में संलिप्त दो अन्य आरोपी मनीष व एक नाबालिग को दबोचा गया। इन सबों के पास से बीते 23 जून को रोसड़ा के मब्बी चौक के समीप एक फाइनेंसकर्मी से लूटी बाइक के अलावा हसनपुर थाना क्षेत्र में लूटी एक बाइक भी बरामद की गयी। वहीं इन सबों के पास से चोरी की एक मोबाइल समेत पांच मोबाइल को जब्त की गयी। एसडीपीओ ने बताया कि इन लोगों ने लूट व गोलीबारी के कई कांडों में अपनी संलिप्तता स्वीकार है। उन्होंने बताया कि धराये आरोपियों में राजू व अरविंद का पुराना अपराधिक इतिहास रहा है। दोनों पूर्व में भी लूट, चोरी व गोलीबारी के मामले में जेल जा चुके हैं। हालांकि फरार चल रहा अनमोल व संतोष भी काफी शातिर किस्म का है। सभी लूट व गोलीबारी के मामलों को अंजाम देने में इन दोनों की संलिप्तता रही है। बीते 28 जुलाई को हसनपुर के देवधा के समीप एक एमआर को गोली मारकर की गई लूटपाट मामले में अनमोल, संतोष व नाबालिग आरोपी शामिल था। इसके अलावे बीते 20 जुलाई को बखरी में हुए तीन लाख रुपये की लूट मामले में भी इन गिरोहों ने ही अपनी संलिप्तता स्वीकार की है। एसडीपीओ ने बताया कि ये सभी काफी शातिर किस्म के हैं। इन सबों का गिरोह लूट की वारदात को अंजाम दिया करता है। गिरोह के कई सदस्यों की एकसाथ गिरफ्तारी से पुलिस ने राहत की सांस ली है। उन्होंने बताया कि समय रहते पुलिस ने इन सबों के मनसूबे पर पानी फेर दिया है। एसडीपीओ ने कहा कि धराये आरोपियों को न्यायिक हिरासत में भेजा जा रहा है। वहीं नाबालिग को जुवेनाइल कोर्ट में पेश किया जाएगा।

इन कांडों का हुआ खुलासा

हसनपुर के मेदो चौक के समीप से गिरफ्तार आधा दर्जन अपराधियों के बाद पुलिस ने राहत की सांस ली है। इन अपराधियों की गिरफ्तारी से कई मामलों की गुत्थी भी सुलझ गयी है। एसडीपीओ ने बताया कि रोसड़ा थाना कांड 196/2021, हसनपुर थाना कांड सं 151/2021, हसनपुर थाना कांड सं 152/2021 तथा बखरी थाना कांड सं 208/2021 का उदभेदन कर लिया गया है। ये सभी मामले लूट व गोलीबारी से जुड़े हैं।

संबंधित खबरें