DA Image
हिंदी न्यूज़ › बिहार › समस्तीपुर › आज भी कायम है प्रेमचंद जी की प्रासंगिकता
समस्तीपुर

आज भी कायम है प्रेमचंद जी की प्रासंगिकता

हिन्दुस्तान टीम,समस्तीपुरPublished By: Newswrap
Sat, 31 Jul 2021 11:42 PM
आज भी कायम है प्रेमचंद जी की प्रासंगिकता

डॉ. लोहिया कर्पूरी विश्वेश्वर दास महाविद्यालय में प्रधानाचार्य डॉ. शंभु कुमार यादव की अध्यक्षता में हिन्दी एवं उर्दू विभाग के संयुक्त तत्वावधान में प्रेमचंद जयंती समारोह का आयोजन किया गया। हिन्दी विभागाध्यक्ष डॉ.विनीता कुमारी ने कहा कि कथा सम्राट मुंशी प्रेमचंद की अनेक कहानियां हैं जो हमें समाज की अनेक कुरीतियों से अवगत कराती है। उन्होंने छात्रों को मुंशी प्रेमचन्द के जीवन से सीख लेने की सलाह दी। समारोह के संयोजक डॉ. बलराम कुमार ने प्रेमचंद द्वारा संकलित अनेक कथा सुना छात्रों को उनके जीवन और उनके कथाओं से सीख लेने की अपील की। अंग्रेजी विभागाध्यक्ष डॉ.प्रभात रंजन कर्ण ने उनके जीवन की अनेक रचनाओं को उदधृत किया और छात्रों को प्रोत्साहित किया। समारोह को स्नातक प्रथम खण्ड की छात्रा अर्चना कुमारी, छात्र अंकित कुमार हिन्दी विभाग के पूर्ववर्ती छात्र लालदेव कुमार ने भी संबोधित किया। धन्यवाद ज्ञापन राजनीति विभागाध्यक्ष डॉ. हुस्न आरा ने किया। इस मौके पर डॉ.जगदीश प्रसाद वैश्यंत्री, निशिकांत जायसवाल, रजत शुभ्र दास, डॉ.उदय कुमार, डॉ.हरिमोहन प्रसाद सिंह, आशीष कुमार ठाकुर, डॉ.सुमन पोद्दार, अजीत कुमार, सौरभ कुमार, नितेश कुमार, तबरेज,शेखर, उपेंद्र, रंधीर, गीता देवी आदि शामिल रहे।

जयंती पर विचार गोष्ठी आयोजित

समस्तीपुर। निस

महान कथा सम्राट मुशीं प्रेमचंद की 142 वीं जयंती के अवसर पर स्टेशन रोड स्थित शहीद उदय शंकर स्मारक भवन में जनवादी लेखक संघ, जनवादी सांस्कृतिक मोर्चा और जन संस्कृति मंच की ओर से एक विचार-गोष्ठी का आयोजन किया गया। हमारे दौर की चुनौतियां और प्रेमचंद विषय पर आयोजित विचार गोष्ठी की अध्यक्षता जन संस्कृति मंच की ओर से डा. प्रभात कुमार, जनवादी लेखक संघ की ओर से शाह जफ़र इमाम तथा जनवादी सांस्कृतिक मोर्चा की ओर से राम विलास सहनी की अध्यक्ष मंडल ने की। कार्यक्रम का संचालन जलेस के जिला सचिव डा. रामदेव महतो ने किया। कार्यक्रम की शुरुआत उपस्थित प्रतिभागियों द्वारा प्रेमचंद के चित्र पर माल्यार्पण से हुई। कार्यक्रम को डा. स्नेहलता कुमारी, अमलेन्दु कुमार, शंभू कुमार पांडेय, अरविंद कुमार दास, रघुनाथ राय, सत्य नारायण सिंह, सुजीत कुमार, राम सागर पासवान, राम प्रकाश यादव, शंभू शरण यादव एवं चन्देश्वर राय राय आदि ने विचार व्यक्त किया।

दलसिंहसराय में जसम ने किया सेमिनार का आयोजन

दलसिंहसराय। जनवादी सांस्कृतिक मोर्चा की दलसिंहसराय इकाई ने आरबी कॉलेज में महान कथा सम्राट मुंशी प्रेमचंद की जयंती पर सेमिनार का आयोजन किया। सेमिनार का विषय था 'आज का भारत और प्रेम चंद'। विषय प्रवेश मोर्चा नेता रामसेवक राय ने कराया। कॉलेज के हिंदी विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ. महेशचंद्र चौरसिया ने अध्यक्षीय सम्बोधन में कहा कि महिला उत्पीड़न, समाजिक आर्थिक स्थिति का मूल्यांकन एवं सर्वहारा वर्ग के साथ उनकी दृष्टिकोण को मुंशी प्रेमचंद ने बखूबी रेखांकित किया । कार्यक्रम का उदघाटन करते हुए डॉ. टीपी चौबे ने प्रेमचंद की रचना की विस्तृत विवेचना प्रस्तुत करते हुए उनके कथाओं, उपान्यासो के पात्रों के माध्यम से समाज को दिए गए संदेशों से लोगो को परिचित करवाया। जनवादी संस्कृति मोर्चा के राज्याध्यक्ष अशोक मिश्र ने देश मे अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर हमले, पत्रकारों की हत्या, सामुदायिकता, राष्ट्रीयता के सवालों, जनतंत्र पर हमला एवं संविधान पर संकट के सवाल को रेखांकित करते हुए प्रेमचंद की संदेश को आत्मसात करने पर बल दिया। पूर्व न्यायाधीश नागेंद्र नाथ चौधरी ने विस्तार से चर्चा करते हुए आज के संदर्भ में प्रेमचंद को प्रासंगिक बताया । कार्यक्रम के संचालन राम नरेश दास ने किया मोर्चा की ओर से सुनील कुमार, रामसाजन राय, अरविंद कुमार एवं नरेश दास ने गीतों की प्रस्तुति दी। कार्यक्रम में विधानचंद्र, नीलम देवी, संतोष चौधरी, सिकन्दर राम, शिवनन्दन महतो, सदानंद सिंह, बृजनंदन ठाकुर, सावित्री देवी, वीरेंद्र दास, अनिल दास, भोला राय, रुवी देवी, जनकलाल महतो, महेंद्र सिंह सहित अन्य लोग मौजूद थे

संबंधित खबरें