Now fines on spreading dirt in the railway colony - अब रेलवे कॉलोनी में गंदगी फैलाने पर जुर्माना DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब रेलवे कॉलोनी में गंदगी फैलाने पर जुर्माना

अब रेलवे परिक्षेत्र में भी आप गंदगी फैलाते हैं या फिर कचरा फेंकते हैं तो सावधान हो जाइये। रेलवे परिक्षेत्र में या यार्ड में गंदगी फैलाने वाले के विरुद्ध रेल प्रशासन ने सख्ती से निपटने का फैसला लिया है। इसके तहत पांच हजार तक की जुर्माना राशि तय कर दी है। स्वच्छता को बरकरार रखने के लिए रेलवे बोर्ड ने सभी रेल मंडलों को इसे सख्ती से लागू करने का निर्देश दिया है। यूं कहे तो रेलवे परिक्षेत्र या कॉलोनी में कचरा फेंकने या गंदगी फैलाने वाले की अब खैर नहीं। रेलवे कर्मी हो या फिर बाहरी, सभी से रेलवे जुर्माना वसूलेगा। इसके लिए अधिकारियों की जवाबदेही भी सौंपी गयी है।

अधिकारियों को ऐसे लोगों की पहचान करते हुए जुर्माना वसूलने का आदेश दिया गया है। इसमें रेलवे स्टेशन, ट्रेन, प्लेटफार्म, रेलवे परिक्षेत्र, रेलवे सड़क, रेलवे कॉलोनी, यार्ड आदि के लिए अलग-अलग अधिकारियों को जवाबदेही सौंपी गयी है। साथ ही रेल मंडल के वरीय अधिकारी इसकी मॉनिटरिंग भी करेंगे, कि अगर गंदगी फैलायी गयी है तो जवाबदेह अधिकारी के द्वारा कितना जुर्माना किया गया है। डीआरएम अशोक माहेश्वरी ने भी इसे सख्ती से लागू करने का आदेश संबंधित अधिकारियों को दिया है।

स्टेशन पर पांच सौ रुपये

विदित हो कि स्टेशन व ट्रेन में गंदगी फैलाने वाले से पूर्व से ही पांच सौ रुपये जुर्माना निर्धारित है। इसकी निगरानी सीएचआई, आरपीएफ व टीटीई तथा ट्रेन में टीटीई व आरपीएफ दोषी व्यक्ति से जुर्माना वसूलते हैं।

कॉलोनी में फेंका कचरा तो लगेगा पांच हजार

रेलवे कॉलोनी में गंदगी फैलाने व कचरा फेंकने के लिए जुर्माना तय कर दिया गया है। बोर्ड के आदेशानुसा रेलवे परिक्षेत्र, रेलवे की जमीन, यार्ड, कॉलोनी, सड़क पर कचरा फेंकने एवं गंदगी फैलाने वाले से पांच हजार रुपये जुर्माना वसूल किया जायेगा। अगर किसी भी बाहरी व्यक्ति द्वारा रेलवे के नाली में भी पानी बहाने या कचरा गंदगी फैलाने पर भी पांच हजार रुपये जुर्माना तय किया गया है। रेलवे परिक्षेत्र व यार्ड की निगरानी की जिम्मेदारी स्टेशन मास्टर व आरपीएफ की होगी। इसी प्रकार रेलवे कॉलोनी में गंदगी फेंके जाने पर जुर्माना वसूलने के लिये सीएचआई, आईओडब्ल्यू व आरपीएफ को जवाबदेही सौंपी गयी है। वही आवासीय परिसर के बाहर, सड़क पर, नाली में फेंकने पर आईओडब्ल्यू व सीएचआई दोषी के विरुद्ध कारवाई कर सकते हैं।

स्वच्छता को लेकर पूरी मॉनिटरिंग की जा रही है। संबंधित कर्मियों से भी रिपोर्ट मांगी जा रही है, किस तिथि में कितने व्यक्तियों से जुर्माना वसूला गया है। संबंधित अधिकारियों को गंदगी फैलाने वाले से सख्ती से निपटने का निर्देश दिया गया है। ताकि रेलवे परिक्षेत्र, कॉलोनी, स्टेशन, ट्रेन स्वच्छ रहे। इसके लिये जागरुकता अभियान भी चलाया जा रहा है।

- अशोक माहेश्वरी, डीआरएम, समस्तीपुर।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Now fines on spreading dirt in the railway colony