DA Image
23 सितम्बर, 2020|2:43|IST

अगली स्टोरी

मौसमी बीमारी को ले स्वास्थ्य विभाग अलर्ट

मौसमी बीमारी को ले स्वास्थ्य विभाग अलर्ट

बाढ़ व बरसात के बाद मौसमी बीमारी को लेकर हर वर्ष अस्पतालों में मरीजों की भीड़ पहुंचती है। लेकिन इस बार मौसमी बीमारी की संख्या काफी कम है। हालांकि मौसमी बीमारी से निपटने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने पूरी तरह तैयारी पूरी कर ली है। स्वास्थ्य विभाग अलर्ट मोड में है। साथ ही सभी डॉक्टरों को भी इसको लेकर विशेष निर्देश दिया है।

सदर अस्पताल सहित सभी पीएचसी एवं अनुमंडलीय अस्पतालों में ओपीडी का संचालन किया जा रहा है। जहां मौसमी बीमारी के रूप में सर्दी, खांसी, बुखार व डायरिया के मरीज पहुंचते हैं। हालांकि अभी इसकी संख्या काफी कम है। सदर अस्पताल के शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ. नागमणि राज ने बताया कि बच्चों में भी सर्दी, खांसी व बुखार के अलावे डायरिया के मरीज ओपीडी पहुंचते हैं। लेकिन इसकी संख्या काफी कम है। वहीं सामान्य ओपीडी में इलाज कर रहे डॉ. गिरीश कुमार ने बताया कि पहले की तरह अभी मौसमी बीमार से ग्रसित लोग नहीं आ रहे हैं।

जलजमाव वाले क्षेत्रों के लोगों में पैरों में पानी लगने की समस्या भी आ रही है। सर्दी खांसी होते ही लोगों में कोरोना का डर होता है। लेकिन हर सर्दी खांसी कोरोना नहीं होता है। मौसम के उतार चढ़ाव से भी ऐसा होता है। सीएस डॉ. सतीश कुमार सिंहा ने बताया कि जिले में अभी कहीं से मौसमी बीमारी की चपेट में अधिक मरीजों के होने की सूचना नहीं है। डायरिया के भी केस कम हीं है। हालांकि मौसमी बीमारी को लेकर सभी पीएचसी स्तर पर भी अलर्ट किया गया है। ब्लीचिंग पाउडर का छिड़काव किया जा रहा है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Health department alerts about seasonal disease