ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहार समस्तीपुरअभ्यर्थियों को सामान्य ज्ञान के सवालों ने उलझाया

अभ्यर्थियों को सामान्य ज्ञान के सवालों ने उलझाया

समस्तीपुर। बीपीएससी की शिक्षक बहाली की दूसरे चरण में हुई प्रतियोगिता परीक्षा में...

अभ्यर्थियों को सामान्य ज्ञान के सवालों ने उलझाया
हिन्दुस्तान टीम,समस्तीपुरSun, 10 Dec 2023 12:45 AM
ऐप पर पढ़ें

समस्तीपुर। बीपीएससी की शिक्षक बहाली की दूसरे चरण में हुई प्रतियोगिता परीक्षा में शामिल होने आये अभ्यर्थियों को शनिवार को कई तरह की परेशानी उठानी पड़ी। परीक्षा हॉल में जहां सवालों ने उलझाया वहीं परीक्षा हॉल के बाहर रहने से लेकर खाने और जाने की समस्या से जूझना पडा।
जिले में कुल 17 केन्द्रों पर कड़ी प्रशासनिक देखरेख में परीक्षा हुई। परीक्षा केन्द्रों पर अभ्यर्थियों की इंट्री साढ़े नौ बजे से ही शुरू कर दी गई थी। तीन स्तरीय कड़ी तलाशी व जांच के बाद उन्हें इंट्री दी जा रही थी। ढाई घंटे की परीक्षा में कुल डेढ़ सौ मल्टीपल च्वाइस वाले प्रश्न पूछे गए थे। आरएसबी इंटर महाविद्यालय परीक्षा केंद्र पर परीक्षा देकर निकले सिवान के गुंजन गुप्ता ने बताया कि पूछे गए डेढ़ सौ प्रश्नों में 30 प्रश्न भाषा से पूछे गए थे जिन्हें सभी को अनिवार्य रूप से हल करने थे। इनके सवाल तो लगभग आसान ही थे लेकिन प्रश्नों को बार बार पढ़ने के बाद समझ में आते थे। इसी केंद्र के दूसरे अभ्यर्थी दिव्यांशु कुमार ने बताया कि सामान्य अध्ययन से जुड़े सवाल उलझाऊ व कठिन थे।

इसी केंद्र के तीसरे अभ्यर्थी मो. जुवैद ने बताया कि एकच्छिक विषय के सवाल मिले जुले थे। उन्होंने बताया कि 40 सवाल सामान्य अध्ययन से बाकी 80 सवाल सबजेक्टवाइज स्पेसलाइज्ड सब्जेक्ट्स से थे। इस परीक्षा में बिहार के दूर दूर के जिलों के अलावा उत्तर प्रदेश के विभिन्न जिलों से शामिल थे। इससे पहले परीक्षा केन्द्र पहुंचने के लिए अभ्यर्थियों को परेशानी उठानी पड़ी। वे स्थानीय लोगों से जगह जगह परीक्षा केन्द्र जाने का रास्ता पूछ रहे थे। स्टेशन पर ऑटो व ई रिक्शा चालक अपने अपने हिसाब से सभी को भाड़ा भी बता रहे थे। कई ई रिक्शा चालकों ने उनसे मनमाना भाड़ा भी वसूला। सुबह में समस्तीपुर स्टेशन पर परीक्षार्थियों की भीड़ लगी रही। उनकी भीड़ के कारण आम दिनों की अपेक्षा ई रिक्शा भी अधिक संख्या में दिख रही थी। इसी तरह होटल में भी खाने और नाश्ते के लिए परीक्षार्थियों व उनके अभिभावक की भीड़ लगी हुई थी। टेबल खाली नहीं रहने से परीक्षार्थी एक होटल से दूसरे होटल जा रहे थे। परीक्षा केन्द्र जाने के पूर्व सभी खाने व नाश्ते के लिए परेशान थे। इसी तरह शनिवार की परीक्षा में शामिल होने के लिए अभ्यर्थी एक दिन पहले ही शहर में पहुंच चुके थे। उनमें अधिकांश को रात में रुकने के लिए सुरक्षित जगह नहीं मिली।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें