DA Image
2 अगस्त, 2020|10:06|IST

अगली स्टोरी

सिंघिया में भयावह रूप ले रही बाढ

default image

सिंघिया में नदियों की जलस्तर में वृद्धि जारी रहने से बाढ़ की स्थिति दिनोंदिन और अधिक गंभीर रूप लेते जा रही है। लगातार नदियों के जलस्तर में वृद्धि जारी रहने से लोगों को 1987 व 2004 की बाढ़ की विभीषिका की याद आने लगी है। इससे लोगों ने अब घर के सामान को ऊंचे स्थानों पर रखना शुरू कर दिया है। जलस्तर में वृद्धि के कारण अब ऊंचे स्थान पर बने घरों में भी पानी घुसने लगा है। प्रखंड मुख्यालय को जोड़ने वाली दर्जनों सड़कों पर भी बाढ़ का पानी चढ़ गया है।

हरदिया-कर्पूरी चौक, पैन्पिवी-वस्ती पट्टी, सिंघिया-हिरणी मुख्य पथ पर कई जगहों पर सड़क पर जगह-जगह पानी बह रहा है। खासकर प्रखंड के पूर्वी क्षेत्रों के बड़ी आवादी पूरी तरह बाढ़ से प्रभावित हो चुकी है। इन क्षेत्रों के लोगों की स्थिति दिनोंदिन बदतर हो रही है। विष्णुपुर डीहा पंचायत के दोरकाही व सोनसा गांव के बनहरबा महादलित टोला का बहुत बुरा हाल है। दोरकाही गांव के रामबाबू यादव, पंकज यादव, बुधन खतवे, नथूनी राम आदि ने बताया कि अब दिन में ही एक टाइम खाना बनाते है, वही खाना रात में खाते हैं। शुक्रवार को हरदिया पंचायत के बहदूरा, मिल्की, पैन्पिवी , वारी पंचायत के बलांठ व खरघट्टा , बंगरहट्टा पंचायत के घोरहा, शुम्भा व नवटोलिया आदि गांवों में दर्जनों लोगों के घरों में पानी घुस गया है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Fear taking a terrible form in Singhia