DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कृषि क्षेत्र के विकास के लिए इन्टरपेन्योर बनकर आगे आएं युवा: मंत्री

कृषि क्षेत्र के विकास के लिए इन्टरपेन्योर बनकर आगे आएं युवा: मंत्री

केन्द्रीय मंत्री गिरीराज सिंह ने कहा कि देश की आबादी लगातार बढ़ रही है। खेती योग्य भूमि में कमी आ रही है। भोजन सबको चाहिए। लेकिन खेती से परहेज है। जबकि खेती पेट की आग बुझाने के साथ आर्थिक उन्नति का एक बेहतर मार्ग हैं। इस क्षेत्र को जागृत करने में नौजवानों की भूमिका अहम है। वे इन्टरपेन्योर बनकर आगे आयें। वे अपनी उर्जा व सोच से देश की विकास की गति को और तेज करें। वे बुधवार को विवि के विद्यापति सभागार में बोल रहे थे।

मौका था ले. अमित सिंह फाउंडेशन के तत्वावधान में कृषि के सघनीकरण व विविधिकरण के माध्यम से जीविकोपार्जन एवं ग्रामीण विकास विषय पर चार दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी के समापन सत्र का। इस दौरान वीसी डॉ. आरसी श्रीवास्तव, पूर्व वीसी डॉ.गोपालजी त्रिवेदी, डॉ. एचपी सिंह, डॉ. उषा सिंह समेत अन्य कई लोगों ने संबोधित किया। इस दौरान एक पुस्तक का विमोचन किया गया।

सम्मानित हुए चयनित किसान व वैज्ञानिक: इस दौरान कृषि क्षेत्र में उत्क़ृष्ट कार्य करने वाले किसान राजेन्द्र सिंह कमोद,मेजर मनमोहन सिंह, भीमराम सिंह, सुनील वसंत पाटिल, किरन नवनाथ डोके, धमेन्द्र कुमार पटेल, मो.अजमल, साजन मधुकर, दिनेश पोदर, पुष्पांजली बहरा, सुरेश लाखड़ा, जगदीश सिंह कपूर, राजू नरसिंहम, सत्येन्द्र कुमार, पूनम चन्द्र पाटीवाल, अनिता देवी, कृष्णा देवी, उपेन्द्र कुमार सिंह, रामकिशोर, छोटू हेम्ब्रम, मुन्ना पारित को अमित उद्यान रत्न अवार्ड से सम्मानित किया गया। इसके अलावा वी श्रीनिवासन, डॉ. आरके रांजा, डॉ. रविश चन्द्रा, डॉ. उदित कुमार, डॉ.दीपक राय, डॉ. नारायण लाल, स्वाति सदन,पल्लवी कुमारी, एमएन अंसारी, एमएन पासवान, अमित कुमार, जितेन्द्र कुमार, भारती को विभिन्न प्रतियोगिताओं के लिए सम्मानित किया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Come forward after becoming an entrepreneur for the development of agriculture sector: Minister