DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डकैती कांड का एक और आरोपित धराया

दलसिंहसराय पुलिस की पूछताछ में गोलू उर्फ सुदामा पासवान ने वीआईपी कॉलोनी में घटित डाकेजनी की घटना में अपना अपराध कबूल कर लिया है। गुरुवार को यहां थाना परिसर में आयोजित प्रेस कॉन्फे्रंस में एसडीपीओ संतोष कुमार ने संवाददाताओं को उक्त जानकारी दी। उन्होंने बताया कि 31 मई को गिरफ्तार गोलू ने डाकाकांड में शामिल अपने अन्य आठ साथी अपराधियों के नाम भी पुलिस को बताया है। डाकेजनी के एक दिन बाद अपने साथी अपराधियों से हिस्सा के रुप में 9000 रुपये मिलने की बात उसने बतायी है। स्थानीय लोकनाथपुर गंज मोहल्ले में रह रहे ब्रहमदेव पासवान के पुत्र गोलू के खिलाफ वर्ष 2016 में दलसिंहसराय थाने में चोरी एवं चोरी की बाइक का उपयोग करने को लेकर तीन अलग-अलग मामले दर्ज हैं। इन मामलों में गिरफ्तार गोलू ने जेल से छूटने के बाद अपराध से दूरी बनाने के बदले अपने मोहल्ले के समीप ही 9 साथियों के साथ मिलकर डकैती की घटना को अंजाम दे डाला। मालूम हो कि एलआईसी अधिकारी केबी दीपक एवं उनके घर के अन्य सदस्यों को बंधक बनाकर गत 11 अप्रैल की रात की गई डकैती का खुलासा होने पर गोलू को अप्राथमिक अभियुक्त बनाया गया था। इस मामले में विद्यापतिनगर थाने के सिमरी गांव के अंकेश, वीआईपी कॉलोनी के अभिषेक एवं लोकनाथपुर गंज के रिषिकेश उर्फ गोलू को गिरफ्तार करने में पुलिस को पूर्व में ही सफलता मिल गई थी। लेकिन सुदामा उर्फ गोलू समेत 6 अपराधी फरार चल रहे थे। संदेह के आधार पर कल्याणपुर पुलिस के हत्थे चढ़े गोलू की गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने अपनी सक्रियता बढ़ा दी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Another alleged assault on robbery