DA Image
23 नवंबर, 2020|3:16|IST

अगली स्टोरी

कोसी नदी में पानी घटते ही आवागमन में होने लगी है परेशानी

कोसी नदी में पानी घटते ही आवागमन में होने लगी है परेशानी

बिहार का शोक नदी कहे जाने वाले कोसी में इन दिनों पानी काफी घट गया है। पानी के घट जाने से कोसी तल मे जगह जगह बालू की चहटी जमा है। कोसी का तल के हिस्सों में बंटकर उपधारा में तब्दील हो गया है। जिससे लोगों को आवागमन में परेशानी होने लगी है। छोटी छोटी गहरी उपधारा बनी कोसी में हर जगह नाव का भी परिचालन संभव नहीं हो पा रहा है। जिससे स्थानीय लोग आवागमन सुविधा बहाल करने के लिए अपने स्तर से पहल शुरू कर दिया है। जगह जगह कोसी में बांस की चचरी बना कर चलने लायक बनाया जा रहा है।

कई जगह पर चचरी पुल से लोगों ने आवागमन शुरू भी कर दिया है। तटबंध के अंदर के लोगों ने बताया कि अभी कोसी में पानी कम हो गया है। जिसके कारण कई जगह पर कहीं गहरा पानी तो कम पानी है। जिसके कारण नाव से आवागमन करने में भी दिक्कतें हो रही है। चहटी होने के कारण नाव अटक जाती है। लोगों को मजबूरन पानी में चलकर आना जाना पड़ता है। हालांकि कुछ घाटों पर चचरी पुल के बन जाने से लोगों को काफी सहुलियत हो रही है। इस चचरी पुल से लोग कम समय में तटबंध के अंदर स्थित अपने गांव आने जाने लगे है।

कठडृमर घाट पर चचरी पुल निर्माण प्रक्रिया चालू : कठडृमर घाट पर हर वर्ष हजारों फीट चचरी बनाकर लोग आवागमन करते है। पिछले वर्ष कोसी में अत्यधिक पानी आने के बाद चचरी पुल बह गया था। जिसके बाद लोग नाव से आवागमन करने लगे। लेकिन अब पानी के कम होने पर फिर से इस घाट पर चचरी पुल बनाने की तैयारी की जा रही है।

एक पुल निर्माण की वर्षो से उठ रही मांग : कोसी में एक और पुल निर्माण की वर्षो से मांग की जा रही है। खासकर कठडूमर डेंगराही घाट के बीचोंबीच एक उच्चस्तरीय पुल निर्माण होने से हजारों लोगों को आवागमन काफी सुलभ हो जाएगा। लोगों का कहना है कि एक पुल बनने के बाद लोग सीधे खगड़िया सोनमंखी पुल से जुड़ते ही खगड़िया सहित अन्य शहर से सीधा संपर्क हो जाएगा। अभी दर्जनों गांव के लोगों जिला मुख्यालय सहित सिमरी बख्तियारपुर, सलखुआ, राजनपुर बाजार, बलवाहाट बाजार सहित अन्य जगह आने जाने के लिए नाव से नदी पार करना मजबूरी है।

सलखुआ से सं.सू. के अनुसार प्रखंड के निचले क्षेत्र कोसी इलाके में बीते महीनों भर से पानी अब तक जमा है। जहां जगह-जगह पर पानी से उससे दुर्गंध उठने से क्षेत्रों में अनेक तरह के बीमारियां उठने की संभावनाएं की डर लोंगों में बनी हुई है।प्रखंड के चार पंचायत के लोगों को आवाजाही में काफी परेशानी होती है। कोसी नदी पर पुल बनाने की मांग कई वषार्ें से की जाती है। पर आज तक सफलता नहीं मिली है। इसके लिए लोगों द्वारा कई बार आंदोलन भी किया गया पर समस्या जस की तस बनी हुई है। अलानी पंचायत के चिरैया निवासी ललन चौधरी, चिकनीटोल निवासी सदानंद सदा, रंगीनियां निवासी धीरेंद्र चौधरी सौंथि के दिसम्बर चौधरी खजुर्बन्ना निवासी गणित चौधरी सहित कई अन्य ने बताया कि नदी में पानी आने से जहां नाव सहारा बनता है। लोगों ने पुल निर्माण को जरूरी बताया।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Trouble in the movement as the water in Kosi river decreases