DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इसबार आम फसल की अच्छी पैदावार होने की संभावना

इसबार आम फसल की अच्छी पैदावार होने की संभावना

अनुमंडल के सिमरी बख्तियारपुर, सलखुआ एवं बनमा इटहरी प्रखंड के इलाके में इस वर्ष मंजर से लदे आम के पेड़ को देख कर किसानों के चेहरे खुशी से खिल उठे हैं। अनुमंडल में 745 हेक्टेयर भूमि पर आम के बागान लगे हुए हैं। इस वर्ष संभावित आम उत्पादन का लक्ष्य 5 हजार से 55 सौ मीट्रिक टन रखा गया है।

अनुमंडल के सिमरी बख्तियारपुर में 490 हेक्टेयर, बनमा इटहरी में 155 हेक्टेयर, एवं सलखुआ प्रखंड में 100 हेक्टेयर भूमि में, कुल 745 हेक्टेयर भूमि में आम के बागान हैं। किसानों को इस बार आम के फसल से अच्छी आमदनी की उम्मीद है। सिमरी बख्तियारपुर के किसान गोपाल कुमार एवं सलखुआ के हरेवा गांव निवासी तकी अहमद ने बताया कि विगत वर्ष आम की फसल कम थी। लेकिन इस बार मंजर देखकर लगता है, कि पिछले वर्ष की अपेक्षा इस बार अच्छी पैदावार होगी।

दवा का छिड़काव जरूरी: प्रखंड कृषि पदाधिकारी मनोज कुमार ने बताया कि आम के पेड़ के जड़ों की निकौनी कर नियमित अन्तराल पर पटवन करना चाहिए। साथ ही क्लोरोफास एवं चूना मिलाकर जड़ से तीन फीट तक पुताई भी करनी चाहिए। वहीं कृषि समन्वयक अजय कुमार ने बताया कि जब मटर दाना के आकार में टिकोले हो जाय तो कीटनाशक, फफूंद नाशक एवं विटामिन की दवा मिलाकर किसानों को छिड़काव करना चाहिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:This time the possibility of good yield of common crop