DA Image
हिंदी न्यूज़ › बिहार › सहरसा › अस्पताल में बच्चा बदलने का आरोप लगा हंगामा
सहरसा

अस्पताल में बच्चा बदलने का आरोप लगा हंगामा

हिन्दुस्तान टीम,सहरसाPublished By: Newswrap
Tue, 03 Aug 2021 06:21 AM
अस्पताल में बच्चा बदलने का आरोप लगा हंगामा

सिमरी बख्तियारपुर | एक संवाददाता

सिमरी बख्तियारपुर अनुमंडलीय अस्पताल में सोमवार को बच्चा बदली किये जाने का आरोप लगा है। जिसके कारण मरीज के परिजनों ने अनुमंडल अस्पताल में जमकर हंगामा किया।

मालूम हो कि मधेपुरा अंतर्गत मोकमा निवासी सन्नी पोद्दार की गर्भवती पत्नी उषा देवी अपने मायके कटघरा पुनर्वास आई हुई थी। रविवार दोपहर उषा देवी को लेबर पेन होने के बाद दोपहर के तीन बजे उसे सिमरी बख्तियारपुर अनुमंडलीय अस्पताल में भर्ती कराया गया। कुछ देर बाद उषा देवी ने एक बच्चे को जन्म दिया।

बच्चे के जन्म के बाद लेबर रूम में मौजूद बच्चे की मौसी सुनीता देवी को नर्स द्वारा बच्चे के लिए कपड़े लाने को भेज दिया। इसके बाद रात नौ बजे मरीज के परिजन बच्चे को कटघरा पुनर्वास ले कर चले गए। जब परिजन बच्चे को घर ले कर पहुंचे तो बच्चे ने शौच कर दिया। जब परिजनों ने देखा तो बच्चा लड़की थी। परिजनों ने कहा कि उषा देवी को लड़का हुआ था। परिजनों का आरोप है कि बच्चे के जन्म उपरांत मौसी को कपडे लाने भेजा गया। इसी दौरान बच्चे को बदल दिया गया है। सुनीता देवी ने बताया कि उषा देवी ने लड़के को जन्म दिया था। अगले दिन सोमवार सुबह उषा देवी के परिजन बच्चे बदले जाने का आरोप लगा हंगामा करने लगे। हालांकि बाद में परिजन ने बच्चे को घर ले गए।

कहते हैं अस्पताल उपाधीक्षक: इस संबंध में अस्पताल उपाधीक्षक डॉ एन के सिंह ने बताया कि परिजनों द्वारा लगाया गया आरोप बेबुनियाद है। बच्चा नही बदला गया है।

संबंधित खबरें