DA Image
Sunday, November 28, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहार सहरसासुपौल : चुनाव के बाद दो पक्षों में हिंसक झड़प, चार लोग घायल

सुपौल : चुनाव के बाद दो पक्षों में हिंसक झड़प, चार लोग घायल

हिन्दुस्तान टीम,सहरसाNewswrap
Wed, 27 Oct 2021 05:30 PM
सुपौल : चुनाव के बाद दो पक्षों में हिंसक झड़प, चार लोग घायल

वीरपुर, निज संवाददाता

प्रखंड के सबसे संवेदनशील पंचायत बनैलीपट्टी में चुनाव परिणाम की घोषणा होते ही एक बार फिर मंगलवार को हिंसक झड़प होने से स्थिति तनावपूर्ण हो गई है। घटना को लेकर दोनों पक्षों ने एक-दूसरे के खिलाफ केस दर्ज कराया है। मंगलवार की शाम बनैलीपट्टी पंचायत के रामजानकी चौक वार्ड 10 में पंचायत से मुखिया चुनाव जीतने वाली सुशीला देवी और प्रतिपक्षी गणेश यादव के समर्थकों के बीच हिंसक झड़प हो गई। इसमें दोनों पक्ष से चार लोग घायल हुए हैं।

घायलों इलाज अनुमंडलीय अस्पताल में चल रहा है। गणेश यादव के समर्थक नंदकिशोर मेहता ने थाना में दर्ज कराए केस में कहा है कि मंगलवार की दोपहर लगभग तीन बजे बनैलीपट्टी मिडिल स्कूल के पास जैसे ही वह पहुंचे तो शनिचर मेहता, देवनारायण मेहता, रामजी मेहता, सदानंद मेहता दयानंद मेहता, प्रदीप मेहता, विनोद कामत, बौआ लाल कामत, रमेश मेहता, हेमनारायण मेहता आदि ने मिलकर गाड़ी से उन्हें गिरा दिया और मारपीट करने लगे। इस दौरान आरोपियों ने सोने की चेन भी छीन लिया। दूसरी ओर मुखिया सुशीला देवी के समर्थक श्रवण कुमार ने दर्ज केस में कहा है कि दो बाइक पर अरविंद मेहता और प्रमोद कामत के साथ वह रामजानकी चौक की आ रहे थे। इस दौरान पहले से घात लगाए गणेश यादव, बोकाय यादव, विशो यादव, हरिहर यादव, रामचंद्र यादव, मुकेश यादव, बीरेंद्र राम, केशव मेहता आदि ने लोहे के रड, लाठी और थ्रीनट से लैस होकर उन लोगों पर हमला बोल दिया। आरोपियों ने उन लोगों को मारपीट कर घायल कर दिया। आरोपियों ने सोने की चेन, पांच हजार रुपया नगद और मोबाइल भी छीन लिए। मालूम हो कि पंचायत चुनाव के दौरान बनैलीपट्टी से दोनों पक्षों के बीच तनाव की खबरें पहले से आ रही थी। इससे लोग आशंकित थे कि कभी भी हिंसक झड़प हो सकती है। 7 मई 2020 को पूर्व पैक्स अध्यक्ष गणेश यादव और उनके भांजा प्रदीप यादव को बाढ़ आश्रय स्थल के पास गोली मार दी गई थी। इसमें प्रदीप की घटना स्थल पर ही मौत हो गयी थी और गणेश यादव गंभीर रूप से घायल हो गया था। पुलिस ने इस हत्याकांड को लेकर जो केस दर्ज किया था उसमें गणेश यादव द्वारा वर्तमान चुनाव जीतने वाली मुखिया सुशीला देवी और उसके पति सह तत्कालीन मुखिया जगदीश कोड़गिया को आरोपी बनाया गया था। मामले को लेकर अब तक सुशीला देवी के पति फरार चल रहे हैं। उधर, मंगलवार को हुई हिंसक झड़प के बाद लोग आशंकित है कि इस पूरे प्रकरण को लेकर कहीं दोबारा किसी हत्याकांड की पुनरावृत्ति ना हो जाए। एसडीपीओ पंकज मिश्रा ने बताया कि दोनों पक्षों को चेतावनी दी गयी है। अगर कोई भी पक्ष कानून हाथ में लेता है तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। फिलहाल आवेदन के आलोक में पुलिस कार्रवाई में लगी हुई है। थानाध्यक्ष दीनानाथ मंडल ने बताया कि झड़प के बाद दोनों पक्षों की ओर से केस दर्ज कराया गया है। मामले को देखते हुए पुलिस लगातार बनैलीपट्टी में गश्त कर रही है।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें