DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पद्मावती फिल्म को लेकर सहरसा बंद, प्रदर्शन और तोड़फोड़

पद्मावती फिल्म को लेकर सहरसा बंद, प्रदर्शन और तोड़फोड़

शुक्रवार को फिल्म पद्मावती को देशभर में बैन करने की मांग के समर्थन में विश्व हिंदू रक्षा संगठन के सदस्यों ने सहरसा बंद का आयोजन किया। संगठन के कार्यकर्ता सुबह से ही जुलूस निकालकर प्रदर्शन करते हुए बंद को सफल बनाने की कोशिश में लगे रहे। हालांकि बंद का प्रभाव बहुत ज्यादा देखने को नहीं मिला और ज्यादातर दुकानें खुली रहीं और यातायात व्यवस्था भी सामान्य नजर आया।

संगठन के संस्थापक सुमित्रानंदन स्वामी के निर्देश पर आयोजित बंद को लेकर कार्यकर्ताओं ने शहर के कचहरी चौक, शिवपुरी चौक, तिवारी टोला, पुरब बाजार, गंगजला चौक, थाना चौक, डीबीरोड होते हुए शंकर चौक पहुंचा और फिल्म के निर्देशक संजय लीला भंसाली का पुतला दहन किया। संगठन के कार्यकर्ताओं की टोली अलग-अलग दिशाओं में जुलूस निकालकर फिल्म के विरोध में प्रदर्शन करते हुए नारेबाजी की। बंद के दौरान शहर के हटियागाछी इलाके में स्थानीय लोगों ने बंद समर्थकों पर जबरदस्ती बंद कराने का आरोप लगाते हुए सड़क जाम कर प्रदर्शन किया और जमकर हंगामा किया। मामले में तनावपूर्ण स्थिति को देखते हुए काफी संख्या में पुलिस बल की तैनाती कर मामले को शांत कराया गया। अनिल यादव की अध्यक्षता व अमित यदुवंशी के संचालन में आयोजित बंद के मौके पर आलोक कुमार उर्फ बोस, बंटी सिंह, प्रशांत कुमार, आशिष सिंह, चंदन कुमार, राजेश कुमार, हरिओम, राहुल राज, आकाश कुमार, अभिजीत सिंह, लालू यादव, अमित कुमार, उदय कुमार, प्रणव कुमार, राजकुमार, सोनु यादव, सतराज भगत सिंह, चुन्नु कुमार, विद्या कुमार, अमित टाइगर, शशि यादव, गोपाल यादव, प्रवीण यादव सहित अन्य मौजूद थे।

बंद समर्थकों के खिलाफ आवेदन: फिल्म पद्मावती के विरोध में आहुत सहरसा बंद के दौरान बंद समर्थकों द्वारा शहर के हटियागाछी इलाके में जमकर उत्पात मचाया गया। जबरदस्ती दुकान बंद कराने के कारण कई स्थानीय दुकानदारों से झड़प की घटना भी हुई। इस संबंध में हटियागाछी स्थित पतंजलि चिकित्सालय संचालक मोनु आनंद द्वारा बंद करने के दौरान दुकान के कर्मचारियों के साथ मारपीट व लूटपाट करने का मामला दर्ज कराया गया है। इस संबंध में उन्होंने सदर थाना में आवेदन देकर बताया कि संगठन के अमित यदुवंशी, अंकित सिंह, अविजित आनंद, दबंग यादव सहित 30-40 बंद समर्थकों द्वारा बंद करने के लिए कहा गया लेकिन दुकान बंद करने के दौरान ही सभी लोगों द्वारा कर्मचारियों के साथ मारपीट की गई।

दुकान के काउंटर से 12 हजार रुपए नगद भी निकाल लिया। उन्होंने मामले में आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है। उधर, कई स्थानीय दुकानदारों द्वारा भी बंद समर्थकों द्वारा दुकान में तोड़फोड़ कर नुकसान पहुंचाने की बात कही जा रही है। इस संबंध में सदर थानाध्यक्ष आरके सिंह ने बताया कि मामले में कार्रवाई की जा रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Shops closed for Padmavati film protest