DA Image
3 जुलाई, 2020|3:44|IST

अगली स्टोरी

सहरसा : बेवजह घूम रहे लोग पकड़ाने पर बना रहे तरह-तरह का बहाना

सहरसा : बेवजह घूम रहे लोग पकड़ाने पर बना रहे तरह-तरह का बहाना

लॉकडाउन के दौरान पुलिस से बचने के लिए लोग तरह-तरह के हथकंडे अपना रहे हैं। कोई स्वास्थ्य विभाग तो कोई दूरसंचार विभाग, जिला प्रशासन की पर्ची लगाकर चल रहा है। पुलिस द्वारा चलाए गए अभियान में सोमवार को लगभग आधा दर्जन लोगों को पकड़ते चालान किया गया।

ज्यादातर लोग दवा लाने, किराना सामान लाने, सब्जी लाने के बहाने घर से बाहर निकलने की बात बताते हैं। इसके सबूत के तौर पर इनके पास हाथ में झोला, चिकित्सक की पर्जी व कुछ दवाएं भी रहती हंै। लोगों की आवाजाही को कम करने के लिए प्रशासन की ओर से सब्जी बाजार खुलने और बंद करने का समय निर्धारित कर दिया है। इसके बाद दवा लाने, अस्पताल जाने का बहाना काम कर रहा है। कई लोग बाइक पर, कार पर आपातकालीन ड्यूटी का कागज चिपकाकर भी खूब सड़कों पर आवाजाही कर रहे हैं। पुलिस द्वारा इनके खिलाफ अभियान चलाया जा रहा है। पुलिस के मुताबिक पर्ची चिपकाकर चलने वाले से जब प्रूफ मांगा जाता है तो वह आनकानी करने लगते हैं।

ऐसे लोगों के खिलाफ पुलिस द्वारा अभियान चलाया जा रहा है। ट्रैफिक प्रभारी नगेन्द्र राम ने बताया कि आधा दर्जन से अधिक गाड़ी चालकों का चालान किया गया है। आगे भी कार्रवाई की जाएगी।

तेज गाड़ी चलाने वालों पर कार्रवाई: खाली और सूनी सड़क पर युवा तेजी से बाइक दौड़ा रहे हैं। पुलिस भी खूब कान पकड़वाकर उठ-बैठक करवाती है। फाइन भी कटता है लेकिन इन बातों से इन्हें कोई फर्क नहीं पड़ रहा है। दिन भर बाइक से, पैदल सड़कों पर आवाजाही कर कोरोना-वायरस संक्रमण के फैलाव का खतरा बना हुआ है। सदर एसडीपीओ प्रभाकर तिवारी ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान लोगों को नियमों का पालन करना चाहिए। बिना काम के सड़कों पर निकलने से परेशानी बढ़ती है। उन्होंने कहा कि तेज बाइक चलाने वाले के खिलाफ लगातार कार्रवाई की जा रही है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Saharsa People making useless excuses on various types of roaming