DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

समय सीमा बीतने के बाद भी चार स्परों का काम अधूरा

पूर्वी कोसी तटबंध के 78 से 84 किमी के बीच यत्र -तत्र तटबंध पर गिराए गए बोल्डरों की बिना स्टैक लगाए नापी की जा रही है। इससे जल संसाधन विभाग के कार्यप्रणाली पर सवालिया निशान लग गया है। पूर्वी कोसी तटबंध के 78 से 84 किमी के बीच 17 स्परों को चौडीकरण, उच्चीकरण एवं मजबूतीकरण किया जा रहा है। प्रथम चरण में 78.30, 78.60, 80.05 एवं 83.40 किमी स्थित चार स्परों का कार्य 15 जून से पूर्व करना था किंतु अभी तक कार्य पूरा नहीं हो सका है। और तो और मजबूतीकरण हेतु एजेंसी द्वारा पूर्वी कोसी तटबंध के अनेक बिंदुओं पर यत्र-तत्र ट्रकों से नेपाली बोल्डर जमा कर दिया गया है। जिसका इस बीच स्थानीय अभियंताओं द्वारा नापी शुरू कर दिया गया है।जानकार लोगों ने बताया कि बिना स्टैक लगाए छितराये बोल्डरों का नापी कैसे किया जा रहा है, यह समझ से परे है। लोगो को बोल्डर की नापी में व्यापक पैमाने पर घपले की आशंका है।कई रेनकटों को अब तक नहीं भरा गया: तटबंध के पर बसे लोगों का कहना है कि पूर्वी कोसी तटबंध के अनेक बिंदुओं पर पर कई दिनों से बारिश से जानलेवा एवं खतरनाक रेनकट बन गए हैं। जिसे अभी तक अभियंताओं द्वारा भराया नहीं जा सका है। सुपौल डिवीजन के इंजीनियरों को चीफ इंजीनियर प्रकाश दास ने अविलंब रेनकटो को भरवाने का आदेश दिया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:saharsa:Four sparse work incomplete even after the deadline