DA Image
24 सितम्बर, 2020|10:59|IST

अगली स्टोरी

सहरसा, सीपीआई का मजदूर दिवस पर उपवास

default image

एक मई मजदूर दिवस के अवसर पर शहीद जयप्रकाश भवन में सामूहिक उपवास रखा गया।उपवास पर बैठे सीपीआई के राष्ट्रीय परिषद सदस्य कामरेड ओमप्रकाश नारायण ने कहा कि नरेंद्र मोदी की सरकार ने कोरोना-वायरस महामारी का राजनीतिक इस्तेमाल किया। जब 30 जनवरी को केरल में कोरोना मरीज मिला तो सरकार को उसी समय सचेत होना चाहिए था जो नहीं हुआ। एयरपोर्ट पर विदेशी यात्रियों का चिकित्सकीय जांच नहीं की गई। 24 फरवरी को अहमदाबाद में नमस्ते ट्रंप कार्यक्रम किया गया जिसमें फिजिकल डिस्टेंस का पालन नहीं किया गया। 9 मार्च को भोपाल से विधायकों को बेंगलुरु ले जाया गया जबकि उसी दिन को रोना से पहली मौत हुई। देशहित से ज्यादा पार्टी हित को तरजीह दी गई। 24 मार्च से संपूर्ण भारत में बिना कोई तैयारी के आनन-फानन में लॉकडाउन किया गया।

जिस कारण करोड़ों मज़दूर एवं लाखों छात्र बाहर फंसे हुए हैं। सुपौल सीपीआई के जिला सचिव सुरेश्वर सिंह ने कहा कि देश के विभिन्न हिस्सों में मजदूर छात्र फंसे हुए हैं। बिहार के डबल इंजन की सरकार पहले तो केंद्र का हवाला देकर पल्ला झाड़ती रही और जबकि केंद्र ने हरी झंडी दिखा दी तो अपनी असमर्थता दिखाते हुए अपने हाल पर मरने छोड़ दिया। मौके पर विजय कुमार यादव, परमानंद ठाकुर एटक जिला सचिव प्रभुलाल दास, सीपीआई नेता कृष्णा प्रसाद साह, शंकर कुमार,निरंजन राय, छात्र नेता चौसन कुमार प्रमुख थे।