DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सहरसा की आकृति पेंटिग कला में कर रही नाम सार्थक

जिले के सतरकटैया प्रखंड अंतर्गत गरोल निवासी आकृति झा बेहतरीन पेंटिंग बनाकर अपने नाम को सार्थक कर रही है। कम ही समय में वह अपनी कला के माध्यम से पहचान बनाने में सफल साबित हो रही है।

दुरस्थ शिक्षा पध्दति से चार वर्षीय बैचलर ऑफ फाइन आर्ट्स का कोर्स कर रही आकृति अबतक कई मंचों पर सम्मानित हो चुकी है। वह एक्सिस बैंक की ओर से स्पलैश पेंटिंग प्रतियोगिता में अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाते हुए लगातार 2014-15 में सफल रही है। इंदिरा गांधी राष्ट्रीय ज्ञानपीठ औरंगाबाद की तरफ़ से भी मेंहदी, रंगोली और चित्रकारी में प्रथम स्थान प्राप्त कर चुकी हैं। बिहार सरकार के वन और पर्यावरण विभाग द्वारा प्रायोजित प्रतियोगिता में भी उसे पुरस्कार मिला है। पिछले दिनों कोशी फिल्म फेस्टिवल समारोह में आकृति ने लोगों को अपनी प्रतिभा दिखाई थी।आकृति ने बताया कि वह सभी प्रकार की पेंटिंग बना सकती है और इसी क्षेत्र में कैरियर बनाना चाहती है।

प्रवीण झा और रेखा झा की पुत्री आकृति की सफलता से उसके परिवार व ग्रामीणों में भी काफी खुशी है। मालूम हो कि हाल के दिनों में सहरसा जिले में पेंटिंग का काफी क्रेज देखा जा रहा है। खासकर लड़कियां इस फिल्ड में अपना कैरियर बनाने के प्रति जागरूक हो रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:saharsa aakriti painting famous