DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एक करोड़ से मलवरी प्रसार केंद्र का होगा विकास

एक करोड़ से मलवरी प्रसार केंद्र का होगा विकास

शहर के पॉलीटेक्निक ढाला के समीप संचालित मलवरी प्रसार सह प्रशिक्षण केंद्र का एक करोड़ की लागत से विकास कार्य होगा। इनमें कार्यालय भवन, बीज भंडार गृह व चारदीवारी सहित अन्य कार्य होंगे।

हस्तकरघा एवं रेशम विभाग के निदेशक ने जिला उद्योग केंद्र के महाप्रबंधक को पत्र भेजकर प्राक्कलन बनवाने का निर्देश दिया। निदेशक के निर्देश के आलोक में योजना विभाग द्वारा विभिन्न कार्यों का लगभग एक करोड़ का प्राक्कलन बनाकर विभाग को भेजा गया है। निदेशक ने महाप्रबंधक को भेजे पत्र मेें कहा है कि मलवरी प्रसार सह प्रशिक्षण केंद्र के परियोजना पदाधिकारी द्वारा कार्यालय भवन, बीजागार भंडारगृह एवं चारदीवारी सहित अन्य निर्माण कार्य का प्रस्ताव प्राप्त हुआ है। विभाग से निर्देश मिलने के बाद विभिन्न कार्य योजना को लेकर प्राक्कलन बनाया गया है। प्राक्कलन को बनाकर विभाग को भेज दिया गया है। विभाग से स्वीकृति मिलने के बाद कार्य शुरू किया जाएगा।

9 एकड़ जमीन में फैला है मलवरी प्रसार केंद्र : शहर में लगभग 9 एकड़ जमीन में मलवरी प्रसार सह प्रशिक्षण केंद्र 1956 से संचालित है। इस केंद्र में शहतुत की खेती सहित कीटपालन किया जाता है। बंगलुरु व अन्य जगहों से रेशम कीट मंगाया जाता है। शुरुआत में केन्द्र सरकार द्वारा लगभग 7 एकड़ एवं राज्य सरकार द्वारा 2 एकड़ में शहतुत की खेती कर कीटपालन किया जाता था। लेकिन इधर केंद्र सरकार द्वारा इस योजना को छोड़ दिया गया है।

अब जीविका के जिम्मे मलवरी केंद्र : रेशम उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए जीविका को बड़ी जिम्मेदारी दी गई है। जीविका के माध्यम से रेशम उत्पादन कार्य किया जा रहा है। साथ ही मनरेगा व कृषि विभाग को इससे जोड़ा गया है। पतरघट, सौरबाजार, कहरा सहित अन्य प्रखंडों में किसान शहतुत की खेती कर रहे हैं। इन किसानों को कीट देने की जिम्मेदारी अब जीविका के जिम्मे है।

तीन कीटपालक कर्मी : मलवरी सह प्रशिक्षण केंद्र में परियोजना पदाधिकारी के अलावा एक सहायक, एक चपरासी, एक दरबान व तीन कीटपालक कर्मी तैनात हैं। केंद्र में इस बार अच्छी शहतुत की खेती हुई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Malvari Extension Center will be developed with one crore