DA Image
26 नवंबर, 2020|10:42|IST

अगली स्टोरी

लेबर यूनियन ने किया विरोध प्रदर्शन

default image

बिहार निर्माण श्रमिक संयुक्त संघर्ष समिति के बैनर तले लेबर यूनियन ने मुंह पर काली पट्टी बांध कर विरोध प्रदर्शन किया।

मंगलवार को कांग्रेस ऑफिस परिसर में आयोजित कार्यक्रम में श्रमिकों ने कहा कि राज्य के निबंधित निर्माण मजदूरों को इस वैश्विक महामारी एवं लॉकडाउन की स्थिति में बिहार राज्य मजदूरों को निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड द्वारा कोई भी सहायता नहीं दी गई है। मजदूरों ने रोष जताते कहा कि जबकि अन्य राज्यों में सहायता दी जा रही है। लेकिन बिहार सरकार मजदूरों के साथ छल कर रही है। धरना प्रदर्शन के माध्यम से मजदूरों ने कहा कि बोर्ड द्वारा तीन हजार से दस हजार तक आर्थिक सहायता दी गई है। अभी तक 21 लाख निर्माण मजदूर निबंधित किये गये है। 14 लाख ऑनलाइन दर्ज भी हो चुका है। जिसमें 9 लाख मजदूरों को ही खाते में योजना संबंधित भुगतान हुआ है। अन्य के त्रृटियों को दूर करने की आवश्यकता है ताकि सभी ऑनलाइन आवेदकों को सुविधा मिलेगी सकें। बोर्ड में दो हजार करोड़ जमा है और प्रत्येक माह 30 करोड़ सेस के रूप में जमा होते है। यदि वसूली सभी क्षेत्रों में ठीक से हो तो राशि काफी बढ़ सकती है। धरना प्रदर्शन के माध्यम से पोशाक चिकित्सा भत्ता राशि सहित अन्य मांगों की पूर्ति की मांग की। अध्यक्ष सत्य नारायण चौपाल की अध्यक्षता में आयोजित धरना प्रदर्शन कार्यक्रम में नईमउद्दीन, मुकेश कुमार, नसीर सहित अन्य थे।