DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सामुदायिक आधार पर पूर्ण स्वच्छता की जरूरत

सामुदायिक आधार पर पूर्ण स्वच्छता की जरूरत

गुरूवार को कला भवन में लोहिया स्वच्छ बिहार अभियान के तहत एक दिवसीय उन्मुखीकरण सह कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला का उदघाटन करते डीडीसी राजेश कुमार सिंह ने कहा कि सामुदायिक आधारित पूर्ण स्वच्छता की जरूरत है। खुले में शौच का अभियान बहुत दिनों से किया जा रहा है।

जिसमें कामयाबी भी मिली है और कार्य जारी है। खूले में शौच से गंदगी ही नहीं फैलती बल्कि कई तरह की बीमारी भी होती है। इसलिए लोगों को अपने व्यवहार में भी परिवर्त्तन लाना है। जबतक लोग अपने अपने व्यवहार में परिवर्तन नहीं लायेगा। तबतक स्वच्छ भारत का सपना नहीं हो सकता है। इसे राष्ट्र का सम्मान व आर्थिक पहलु से भी जोड़ा गया है। गंदगी के कारण कई तरह की बीमारी होती है।

जिससे परिवार के लोग आर्थिक व मानसिक रूप परेशान रहते है। साथ ही बच्चों का विकास रूक वहीं महिला के बंाझपन की शिकार हो भी हो रही है। स्वच्छता के लिए स्वच्छता कर्मी भी लोगों को प्रेरित करें। सतत प्रयास की आवश्यकता व सभी लोगों की भागीदारी आवश्यक है। उन्होंने कहा कि इसमें जीविका दीदी का महत्वपूर्ण योगदान है। जीविका दीदी के माध्यम से घर घर संदेश पहुंचाये। ताकि घर की महिलाएंं अपने आसपास साफ सफाई रखें और सभी सदस्यों को शौचालय का प्रयोग करने के लिए प्रेरित कर सकें।

जिला कोर्डिनेटर कुमारी सोनम ने कहा कि 15 अगस्त तक पखवाड़ा की तरह मनाया जाएगा। 15 अगस्त तक सभी लोगों को शौचालय के लिए प्रेरित किया जाएगा। लोगों में स्वच्छ व्यवहार हो जिससे सुंदर बिहार बन सकें इसके लिए लगातार यह अभियान जारी रहेगा। ताकि लोगों की मानसिक सोच में बदलाव आ सकें। उन्होंने कहा कि गंदगी के कारण कई तरह की बीमारी हो रही है।

बच्चों का शारीरिक विकास रूक जाता है। उन्होंने कहा कि अच्छे कार्य करने वाले कर्मी को 15 अगस्त के दिन सम्मानित किया जाएगा। जिला जल व स्वच्छता समिति के सौजन्य तहत ठोस एवं तरल अविशिष्ट प्रबंधन पर कहा कि गीला कचरा व सुखा कचरा को भी अन्यत्र न फेंके। इससे गंदगी के साथ कई तरह की बीमारी होती है। मुक्तेश्वर सिंह मुकेश के संचालन में आयोजित कार्यक्रम में रविन्द्र कुमार, सत्यम सिंह सहित सभी बीडीओ, पीओ, बीईओ, सीडीपीओ, कोर्डिनेटर, जीविका दीदी, पंचायत नोडल नोडल पदाधिकारी मौजूद थे।

स्वच्छता अभियान पर बच्चों ने दी रंगारंग प्रस्तुति : कार्यशाला में स्वच्छता अभियान से संबंधित स्कूली बच्चों ने एक से बढ़कर एक प्रस्तुति दी। नाटक, गायन, नृत्य के द्वारा स्वच्छता पर बल दिया गया। खासकर इस कार्यक्रम में जिला गर्ल्स हाई स्कूल, म.वि.न्यू कॉलोनी, म.वि. चैनपुर, ओबीसी उ.वि. सहरसा, बुच्चन साह म.विद्यालय व म.वि. शिक्षक के बच्चों ने समृह नृत्य व नाटक की प्रस्तुति दी। जिसमें से गर्ल्स हाई स्कूल को प्रथम पुरस्कार भी दिया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Full sanitation need on community basis