DA Image
28 फरवरी, 2021|11:47|IST

अगली स्टोरी

सहरसा-पूर्णिया रेलखंड पर इसी साल इलेक्ट्रिक ट्रेन

सहरसा-पूर्णिया रेलखंड पर इसी साल इलेक्ट्रिक ट्रेन

सहरसा | निज प्रतिनिधि

कोसी-सीमांचल क्षेत्र के यात्रियों के लिए राहत भरी खबर है। इसी साल से सहरसा-पूर्णिया कोर्ट रेलखंड पर इलेक्ट्रिक ट्रेन चलेगी। अभी सहरसा से आगे मधेपुरा स्टेशन तक रेलखंड विद्युतीकृत है। मधेपुरा से पूर्णिया कोर्ट तक 78.03 रूट किलोमीटर में रेल विद्युतीकरण कार्य बुधवार से शुरू हो गया है। रेल विद्युतीकरण कार्य का समस्तीपुर मंडल के डीआरएम अशोक माहेश्वरी ने बुधवार को शुभारंभ किया। डीआरएम के हाथों शुभारंभ के बाद बुधमा पास फाटक संख्या 88 सी पास से विद्युतीकरण कार्य की शुरुआत हुई।

शुभारंभ करने जाने से पहले डीआरएम ने सहरसा स्टेशन का निरीक्षण किया। निरीक्षण के बाद डीआरएम ने बताया कि मधेपुरा से पूर्णिया कोर्ट तक रेल विद्युतीकरण कार्य अक्टूबर अंतिम तक पूरा कर लिया जाएगा। उसके बाद सीआरएस निरीक्षण कराते हुए कमीशनिंग करते इलेक्ट्रिक ट्रेन चलाई जाएगी। उन्होंने कहा कि विद्युतीकरण कार्य के तहत इलेक्ट्रिक, सिग्नल और इंजीनियरिंग तीन विभागों से जुड़े काम होंगे। उसके लिए कई एजेंसी काम करने में जुट गई है। बरसात में कार्य प्रभावित नहीं हो उसके लिए सबसे पहले फाउंडेशन का काम पूरा किया जाएगा।

डीआरएम ने कहा कि 27 फरवरी को पूर्व मध्य रेल के महाप्रबंधक का निरीक्षण कार्यक्रम है। महाप्रबंधक सहरसा से निरीक्षण की शुरुआत करते हुए सरायगढ़, निर्मली, झंझारपुर के रास्ते दरभंगा तक जाएंगे। इस कारण आसनपुर कुपहा-निर्मली और तमुरिया-झंझारपुर रेलखंड पर ट्रैक लिंकिंग का काम पूरा होने की पूर्ण संभावना है। इन रेलखंडों पर कनेक्टिविटी बहाल होने के बाद सहरसा से झंझारपुर के रास्ते दरभंगा पहुंचना संभव हो जाएगा। कम समय और कम खर्च में कोसी क्षेत्र से लोग दरभंगा पहुंच जाएंगे। उन्होंने कहा कि निर्मली, झंझारपुर रेलखंड पर पहले महाप्रबंधक की निरीक्षण ट्रेन गुजरेगी उसके बाद या पहले सीआरएस का निरीक्षण कराया जाएगा। सीआरएस के रिपोर्ट के आधार पर रेलवे बोर्ड के निर्देश मुताबिक यात्री ट्रेन परिचालन शुरू किया जाएगा। डीआरएम के साथ निरीक्षण दौरान सीनियर डीसीएम सरस्वती चन्द्र, सीनियर डीईएन कोर्डिनेशन आर एन झा, सीनियर डीओएम रूपेश कुमार, सीनियर डीईई टीआरडी आशुतोष कुमार झा, सीनियर डीएसटीई राहुल देव, सीनियर डीईएन थ्री मयंक अग्रवाल, डीएमई चंद्रशेखर प्रसाद, पीए पप्पू शर्मा, एडीईएन मनोज कुमार, डीएमओ डॉ. अनिल कुमार, डीसीआई राजेश रंजन श्रीवास्तव, एएसटीई संजीव कुमार, सीनियर सेक्शन इंजीनियर प्रभात कुमार, एसएसई रेलपथ सुनील कुमार, प्रभारी स्टेशन अधीक्षकरमेश कुमार, सुभाषचंद्र झा, एसएसई सिग्नल रंजन कुमार, सीडब्लूएस शंभु कुमार, एसएसई बिजली महेश कुमार सिन्हा, टेलीकॉम इंस्पेक्टर अमित कुमार सुमन, इंस्पेक्टर सारनाथ, एमएम रहमान व अन्य थे।

फारबिसगंज तक ट्रैक लिंकिंग का काम होगा पहले : डीआरएम ने कहा कि फारबिसगंज तक पहले ट्रैक लिंकिंग का काम पूरा किया जाएगा उसके बाद विद्युतीकरण कार्य। उन्होंने कहा कि राघोपुर-फारबिसगंज रेलखंड पर फंड की कमी को दूर करने के लिए पत्राचार किया जा रहा है। ललितग्राम तक ट्रैक लिंकिंग का काम युद्धस्तर पर चल रहा है। सुपौल-अररिया रेलखंड पर भी आमान परिवर्तन कार्य चल रहा है।

जनवरी अंतिम तक सहरसा में ऑटोमेटिक कोच वाशिंग प्लांट : डीआरएम ने कहा कि जनवरी अंतिम तक सहरसा में ऑटोमेटिक कोच वाशिंग प्लांट का काम पूरा कर लिया जाएगा। इसके पूरा होने के बाद कम समय में ट्रेन के सभी कोच की धुलाई और सफाई हो जाएगी। इसके अलावा दूसरे फुट ओवरब्रिज का निर्माण कार्य भी जल्द पूरा करने की योजना है। बंगाली बाजार फाटक संख्या 31 पर ओवरब्रिज निर्माण और रेलवे कॉलोनी की समस्याओं के निदान को प्रयासरत हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Electric train on Saharsa-Purnia railway section this year