Demonstrate on the street when the house is broken - घर तोड़े जाने पर सड़क पर प्रदर्शन DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

घर तोड़े जाने पर सड़क पर प्रदर्शन

सहरसा-सुपौल मुख्य मार्ग के सिहौल गांव के समीप सड़क के किनारे बसे एक दिव्यांग के घर को तोड़कर मिट्टी गिराने से पीड़ितों ने सड़क पर ही सारा सामान रखकर आशियाना बना लिया। दिव्यांग साथ हुए अमानवीय घटना से आक्रोशित लोगों ने सड़क जाम कर दिया।

बताया जाता है कि जमीन मालिक बलराम झा द्वारा लगभग 50 वर्ष से अधिक समय से सड़क के किनारे रहकर गुजर बसर करनेवाले दिव्यांग बौनू दास के साथ हुये इस ज्यादती के विरूद्ध लोगों ने आक्रोशित होकर मुख्य मार्ग को जाम कर प्रदर्शन करने लगा।

दिव्यांग बौनू दास की पत्नी रेशमा देवी एवं बुढ़ी मां सीता देवी सहित परिवार के छोटे बच्चों ने अपने पूरे परिवार के साथ आशियाना टूटने एवं वहां से जबरन हटाने की साजिश देख मुख्य मार्ग पर ही बिछावन एवं खाना बनाने के सभी सामान को साथ लेकर प्रदर्शन करने लगा। वर्षों से सड़क के किनारे स्थित पीडब्ल्यूडी के जमीन पर बसे इन भूमीहीन परिवार के साथ भूस्वामी के इस रूख को देखकर आमलोगों में भी आक्रोश व्याप्त था।

सड़क पर परिवार के साथ लेटकर प्रदर्शन कर रहे बौनू दास सहित परिवार के सदस्यों का कहना था कि यदि यहां से हटाना ही था तो कुछ दिन की मोहलत देते ताकि कोई व्यवस्था कर परिवार की महिला सहित बच्चे को सुरक्षित रख देते। प्रदर्शन कर रहे लोगों ने बताया कि पहले आधा झोपड़ी तोड़ा गया और फिर उसके बाद जेसीबी मशीन से मिट्टी काटकर घर को दबाने लगा। सड़क जाम की सूचना मिलने के बाद बिहरा थानाध्यक्ष रणवीर कुमार पुलिस बल के साथ जामस्थल पर पहुंचकर लोगों से वार्ता की। लगभग दो घंटे से चले जाम के कारण मुख्य मार्ग के बंद रहने से आमलोगों को काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ा। लोगों ने पुलिस से इस मामले में शीघ्र पहल की मांग की।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Demonstrate on the street when the house is broken