DA Image
Saturday, November 27, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहार सहरसा27 अक्टूबर से शुरू होगा को-ऑपरेटिव बैंक

27 अक्टूबर से शुरू होगा को-ऑपरेटिव बैंक

हिन्दुस्तान टीम,सहरसाNewswrap
Fri, 22 Oct 2021 03:51 AM
27 अक्टूबर से शुरू होगा को-ऑपरेटिव बैंक

सहरसा | एक संवाददाता

जिले के किसानों एवं पैक्सो को गेहूं व धान अधिप्राप्ति की राशि के लिए बेगूसराय जिले के बीहट जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। 27 अक्टूबर को शहर के कोसी चौक पर को-ऑपरेटिव बैंक का उद्घाटन होगा।

गुरुवार को प्रेक्षागृह में जिला स्तरीय रबी कर्मशाला-सह-प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का उदघाटन करते डीएम कौशल कुमार ने कहा कि बैंक के उद्घाटन के पश्चात ही धान अधिप्राप्ति का भुगतान शुरू हो जाएगा। बैंक खुलने से अब 48 घंटे के अंदर किसानों को भुगतान होने लगेगा।

डीएम ने कहा कि रबी महाअभियान तहत अधिकाधिक किसानो को उन्नत खेती के लिए जागरूक किया जा रहा है। कम लागत में ज्यादा उत्पादन हो इसके लिए गेहूं, मक्का, दलहन सहित अन्य फसल की बुआई नियमानुसार करें इसकी जानकारी अधिकाधिक किसानो को दी जा रही है। उन्होंने कहा कि यह जिला आपदा से ग्रसित रहने से खेती पर असर पड़ता है। फिर भी पिछले वर्ष गेहूं का उत्पादन बेहतर रहा।

डीडीसी साहिला ने कहा कि रबी कार्यक्रम के माध्यम से संबंधित कर्मी द्वारा किसानों के बीच व्यापक प्रचार-प्रसार कर तकनीकी जानकारी देते हुए उनके फसलों का अधिक से अधिक प्राप्ति व उत्पादन कर दुगुना लाभ दिलाने की दिशा में प्रयास करें।

मंडन भारती कृषि महाविद्यालय अगवानपुर के प्राचार्य, डा उमेश सिंह ने कहा कि ससमय फसल लगाने से उत्पादन में वृद्धि होती है। किसान को देखना होगा कि जिन फसल का चयन कर रहे हैं वह फसल समय, मौसम, ऋतु के अनुसार उपयुक्त है या नहीं।

जिला कृषि पदाधिकारी दिनेश प्रसाद सिंह द्वारा विभागीय योजनाओं की जानकारी देते रबी 2021 में विभिन्न प्रत्यक्षण एवं अनुदानित दर पर बीज वितरण के संबंध में ससमय किसानों का चयन कर, बीज प्राप्त होते ही किसानों के बीच बीज उपलब्ध कराया जाएगा। यह क्षेत्र बाढ़ प्रभावित भी है। ऐसी स्थिति में किसानों के उत्थान के लिए तथा फसलों के उत्पादन एवं उत्पादकता बढ़ाने हेतु राज्य सरकार द्वारा कई लाभकारी योजनाएँ चलाई जा रही है। प्रधान वैज्ञानिक, डा के एम सिंह, ई विमलेश पाण्डे नेजीरो टिलेज मशीन का संचालन एवं अन्य के बारे में विस्तृत जानकारी दी।

जिला परामर्शी, डा मनोज सिंह द्वारा विभाग द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं में राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन, बीज ग्राम योजना, मुख्यमंत्री तीव्र बीज विस्तार योजना, मिनीकिट योजना एवं कृषि यांत्रिकरण योजना के बारे में विस्तृत जानकारी पॉवरप्वाईंट प्रेजेंटेशन के माध्यम दी गई।

कार्यक्रम में सहायक निदेषक, (कृषि अभियंत्रण), परियोजना निदेशक, आत्मा, उप परियोजना निदेशक, आत्मा, सहायक निदेशक, पौधा संरक्षण, प्रखंड कृषि पदाधिकारी, कृषि समन्वयक, किसान सलाहकार, सहायक तकनीकी प्रबंधक, प्रबंधक तकनीकी प्रबंधक एवं विभाग के सभी कर्मी व प्रगतिशील किसान उपस्थित थे।

6875 क्विंटल बीज का होगा वितरण : सभी योजनाओं में 6875 क्विंटल बीज का वितरण बिहार राज्य बीज निगम लिमिटेड के सॉफ्टवेयर व एप के माध्यम से किया जाना है। किसानों कोहोम डिलीवरी का शुल्क व अतिरिक्त शुल्क के साथ बीज उपलब्ध कराया जा सकता है।अग्रणी बैंक प्रबंधक द्वारा किसान क्रेडिट कार्ड योजना बारे में विस्तृत जानकारी दी गई।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें