ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहार पूर्णियाव्यवसायी गोपाल यादुका हत्याकांड में दो गिरफ्तार

व्यवसायी गोपाल यादुका हत्याकांड में दो गिरफ्तार

भवानीपुर, एक संवाददाता। भवानीपुर, एक संवाददाता। भवानीपुर के चर्चित व्यवसायी गोपाल यादुका हत्याकांड में पुलिस ने मामले में दो लोगों को गिरफ्तार...

व्यवसायी गोपाल यादुका हत्याकांड में दो गिरफ्तार
default image
हिन्दुस्तान टीम,पूर्णियाTue, 18 Jun 2024 01:01 AM
ऐप पर पढ़ें

भवानीपुर, एक संवाददाता। भवानीपुर के चर्चित व्यवसायी गोपाल यादुका हत्याकांड में पुलिस ने मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया जबकि एक को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। इस मामले में एक बड़े राजनेता के पुत्र की संलिप्तता की बात भी सामने आ रही है। हालांकि पुलिस अभी इस पर कुछ भी कहने से परहेज कर रही है। वहीं पुलिस ने घटना में प्रयुक्त दो बाइक सहित एक शूटर एवं उसके सहयोगी को गिरफ्तार किया। गिरफ्तार आरोपियों में बीकोठी थानाक्षेत्र के भतसारा गांव निवासी अनिरुद्ध यादव का पुत्र ब्रजेश कुमार यादव एवं भवानीपुर नगर पंचायत निवासी राजू यादव का पुत्र विकास कुमार यादव शामिल है। गिरफ्तार आरोपियों ने पुलिस अधिकारी के समक्ष अपना जुर्म कबूल किया और कई चौंकाने वाले राज खोले। पुलिस जमीन ब्रोकर संजय भगत को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है।

...विशाल ने व्यवसायी को मारी थी गोली:

गिरफ्तार विकास यादव ने पुलिस अधिकारी के समक्ष बताया कि घटना के दिन वह और विशाल कुमार अपनी बाइक से व्यवसायी गोपाल यादुका के घर पहुंचे थे। उसके उनके साथी घटनास्थल के इर्दगिर्द थे। विकास यादव ने बताया कि वह गोपाल यादुका के घर के सामने बाइक स्टार्ट कर खड़ा रहा और विशाल कुमार उसके नजदीक पहुंचकर उसके सिर पर एक गोली मारी थी। गोली मारने के बाद वह और विशाल कुमार बाइक लेकर बजरंगबली चौक के रास्ते कदवा बासा पहुंचे।

......हत्या के लिए मिली थी सुपारी:

चर्चित व्यवसायी गोपाल यादुका की हत्या के लिए राजनेता के पुत्र ने पांच लाख की सुपारी दी थी। गिरफ्तार आरोपियों ने पुलिस अधिकारी को बताया कि पांच लाख में डील होने के बाद उसे पहले 7600 रुपया दिया गया। हत्या के दिन उसे 48 हजार रुपया का भी भुगतान हुआ। विकास यादव ने बताया कि हत्या करने के बाद एक पार्टी दी गई थी जिसमें राजनेता के पुत्र के साथ उसके कई साथी शामिल हुए थे।

......वैज्ञानिक अनुसंधान में खुले राज:

भवानीपुर के चर्चित व्यवसायी गोपाल यादुका की हत्या को भवानीपुर के तत्कालीन थानाध्यक्ष सूरज प्रसाद ने एक चुनौती के रूप में लिया था। उनके द्वारा इस घटना के उद्भेदन के लिए कई प्रकार से अनुसंधान किये जा रहे थे। इसी दौरान सूरज प्रसाद को वैज्ञानिक अनुसंधान में कुछ अहम सुराग हाथ लगे हैं। जिसके आधार पर पुलिस इस चर्चित हत्याकांड की गुत्थी सुलझाने में कामयाब हो सकी। भवानीपुर थानाध्यक्ष सुनील कुमार ने बताया कि व्यवसायी गोपाल यादुका हत्याकांड का उद्भेदन कर लिया गया है। उन्होंने बताया कि इस मामले में दो को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है और जमीन ब्रोकर संजय भगत को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। बहुत जल्द इस मामले के अन्य अपराधियों को भी गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

.....बोले अधिकारी:

धमदाहा एसडीपीओ संदीप गोल्डी ने बताया कि मामले में जांच चल रही है। शीघ्र ही इसमें शामिल सभी लोगों के नाम का खुलासा कर दिया जाएगा।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।