ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहार पूर्णियामां को देख लिपट पड़ा भटका बेटा

मां को देख लिपट पड़ा भटका बेटा

पूर्णिया पूर्व | एक संवाददाता पूर्णियां जंक्शन पर भटकते बच्चे को चाइल्डलाइन ने परिजनों...

मां को देख लिपट पड़ा भटका बेटा
Newswrapहिन्दुस्तान टीम,पूर्णियाFri, 22 Oct 2021 03:52 AM
ऐप पर पढ़ें

पूर्णिया पूर्व | एक संवाददाता

पूर्णियां जंक्शन पर भटकते बच्चे को चाइल्डलाइन ने परिजनों से मिलाया।

आरपीएफ प्रभारी आर के सिंह ने कैलाश सत्यार्थी चिल्ड्रेन्स फाउंडेशन के समन्वयक सुमित प्रकाश से चाइल्ड लाइन समन्वयक मयूरेश गौरव को दी। गौरव ने कहा, बच्चा जोगबनी कटिहार पैसेंजर ट्रेन पकड़ कर पूर्णिया स्टेशन पहुंचा। रेलवे पुलिस बल के सतीश कुमार ड्यूटी के दौरान बच्चे को भटकते पाया। श्री सिंह के द्वारा फारबिसगंज थाना संपर्क किया। फारबिसगंज से चाइल्ड लाइन पूर्णिया कार्यालय पहुंची। बच्चे की मां दीपा देवी ने कहा, बुधवार को 8 वर्षीय आयुष कुमार चार बजे घर से खेलने निकला, लेकिन घर वापस नहीं लौटा फिर हम लोगों ने रिश्तेदार के यहां पता किया। वहीं मां को देखते ही बच्चा उनसे लिपट गया।

कुछ पता नहीं चला फिर हम लोगों ने फारबिसगंज थाने में मामला दर्ज कराया कागजी प्रक्रिया पूरी कर मां को सौंपा गया। परिजनों ने चाइल्ड लाइन, रेलवे पुलिस बल एवं कैलाश सत्यार्थी चिल्ड्रेन्स फाउंडेशन की टीम को तत्काल कार्यवाही कर उनके बच्चे से मिलाने हेतु आभार प्रकट किया। चाइल्ड लाइन के जिला समन्वयक मयूरेश गौरव ने बताया कि बच्चे से मिलते ही माँ फफक फफक कर रो पड़ी। बच्चे की प्राप्ति के फलस्वरूप ये परिजनों के लिए खुशी के आंसू थे। इस अवसर पर मयूरेश गौरव, दीपक कुमार एवं कैलाश सत्यार्थी चिल्ड्रेन्स फाउंडेशन के जिला समन्यवक सुमित प्रकाश उपस्थित थे।

epaper