Tuesday, January 25, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहार पूर्णियाहवाई अड्डा बनने से इलाके के विकास का रास्ता खुलेगा क

हवाई अड्डा बनने से इलाके के विकास का रास्ता खुलेगा क

हिन्दुस्तान टीम,पूर्णियाNewswrap
Fri, 03 Dec 2021 04:02 AM
हवाई अड्डा बनने से इलाके के विकास का रास्ता खुलेगा क

पूर्णिया। हिन्दुस्तान संवाददाता

गुरुवार को थाना चौक पर मिथिला स्टूडेंट यूनियन की तरफ से एक दिवसीय धरना का आयोजन किया गया। धरना का नेतृत्व यूनियन के पूर्णिया इकाई के जिलाध्यक्ष अविनाश कुमार मिश्र कर रहे थे। इस एक दिवसीय धरना में सैकड़ों छात्र, नौजवान, किसान और व्यवसायियों ने हिस्सा लिया और पूर्णिया से जल्द उड़ान की मांग की। धरना प्रदर्शन को संबोधित करते हुए अविनाश कुमार मिश्र ने कहा कि सीमांचल और मिथिलांचल की तरक्की के लिए पूर्णिया एयरपोर्ट जरूरी है। ये एयरपोर्ट यहां की रास्ता खोलेगा। एयरपोर्ट आर्थिक प्रगति में सहायक साबित होगा। निवेश की संभावनाएं बढ़ेंगी। पूर्णिया समेत अन्य जिलों में उद्योग की अपार संभावनाएं हैं जिसे बढ़ावा मिलेगा। उन्होंने कहा कि पिछले कई वर्षों से एयरपोर्ट की मांग हमलोग करते आ रहे हैं। पूर्णिया से हवाई सेवा शुरू होने पर पूर्णिया और कोसी प्रमंडल के सात जिलों के लोगों को लाभ मिलेगा। अभी उन्हें दिल्ली जाने के लिए बागडोगरा जाना पड़ता है। इससे धन के साथ समय भी जाया हो रहा है। धरना को संबोधित करते हुए टीम पूर्णिया के संस्थापक विकास आदित्य ने कहा कि पूर्णिया से माउंट एवरेस्ट अभियान के लिए 1933 में पहली बार हवाई जहाज ने उड़ान भरी थी। इसके बाद 1956 में यहां एयरपोर्ट सेवा शुरू हुई थी। 252 साल पुराने, देश के प्राचीनतम जिले पूर्णिया में आज तक एयरपोर्ट नहीं बन पाया है, जबकि 2015 में ही प्रधानमंत्री ने चुनापूर सैनिक हवाई अड्डा को डेवलप कर इससे सिविल हवाई अड्डा बनाने की घोषणा की थी। उन्होंने कहा कि पूर्णिया में हवाई अड्डा निर्माण को लेकर सरकार की मंशा साफ नहीं है। इसलिए जब तक यहां से हवाई उड़ान शुरू नहीं हो जाती है तब तक हम संघर्ष करते रहेंगे। इस आंदोलन में चंद्रकांत गौश्वामी, सुमित, ध्रुव कुमार झा, अमृत कुमार, रविनेश पोद्दार, रितेश कुमार, सौरभ मिश्रा, भोला शर्मा आदि समेत सैकड़ों सेनानी उपस्थित थे।

epaper

संबंधित खबरें