ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहार पूर्णियानबालिग से शादी रचाने यूपी से आया दुल्हा ससुराल की बजाय पहुंचा हवालात

नबालिग से शादी रचाने यूपी से आया दुल्हा ससुराल की बजाय पहुंचा हवालात

रानीपतरा। संवाद सूत्र शादी के सपने संजोए उत्तर प्रदेश से सैकड़ों मील का सफर...

नबालिग से शादी रचाने यूपी से आया दुल्हा ससुराल की बजाय पहुंचा हवालात
Newswrapहिन्दुस्तान टीम,पूर्णियाWed, 30 Jun 2021 06:11 AM

रानीपतरा। संवाद सूत्र

शादी के सपने संजोए उत्तर प्रदेश से सैकड़ों मील का सफर तय कर पूर्णिया पहुंचा दुल्हा ससुराल की बजाए हवालात पहुंच गया। मुफस्सिल थाना क्षेत्र के डिमिया छात्रजान पंचायत के यादव टोला में बाल विवाह का मामला सामने आने के बाद उसे यह सजा मिली। यह बात तब सामने आई जब लड़की ने शादी का विरोध कर ससुराल जाने से साफ इंकार कर दिया। लड़का-लड़की की शादी दीवानगंज स्थित काली मंदिर में रविवार की देर रात आनन-फानन में करायी गई। मजे की बात है कि शादी करवाने पंडित भी उत्तर प्रदेश से आए थे। वहीं लड़का पक्ष से पांच लोग बारात में शामिल थे। शादी के बाद चार लोग वापस उत्तर प्रदेश चले गए और लड़का दीवानगंज में ही रह गया था। चाइल्डलाइन के जिला समन्वयक मयूरेश गौरव व मुफस्सिल थाना अध्यक्ष आदित्य कुमार ने रणनीति बनाकर लड़का-लड़की को बरामद किया । मालूम हो कि लड़की की उम्र महज 13 वर्ष है और लड़का 35 वर्ष का है। लड़का अनेकपाल अहमदनगर उत्तर प्रदेश का रहने वाला है। इस संबंध में पीड़ित लड़की ने बताया कि वह इस शादी का विरोध कर रही थी, लेकिन जबरन पिताजी ने उत्तर प्रदेश के एक उम्र दराज लड़के के साथ शादी करवा दी, जबकि मैं अभी पढ़ाई करना चाहती हूं। वही इस संबंध में लड़की के पिता ने बताया कि काफी गरीब हूं। बेटी की शादी करवाने में सक्षम भी नहीं हूं। मेरे पड़ोस के लोगों के द्वारा उत्तर प्रदेश का लड़का को मेरे घर पर लाया गया था और शादी करवाने को कहा गया था। स्थानीय ग्रामीणों ने शादी के खिलाफ होकर उस लड़की के परिजनों से पूछताछ करने घर पहुंचे। मौके पर पहुंचे ग्रामीण विद्यानंद मंडल के द्वारा मामले की जानकारी मुफस्सिल थाने और चाइल्डलाइन को दी गई। मौके पर एक्शन हेड कोऑर्डिनेटर कल्पना विश्वास मौजूद थी। वहीं इस संबंध में मुफस्सिल थानाध्यक्ष आदित्य कुमार ने बताया कि प्राथमिक दर्ज कर ली गई है। आगे की कार्यवाई की जा रही है।

epaper