purnia: Model school is not built on the lines of Central School - सेंट्रल स्कूल की तर्ज पर नहीं बन पाया मॉडल स्कूल, खाली पड़ा है भवन DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सेंट्रल स्कूल की तर्ज पर नहीं बन पाया मॉडल स्कूल, खाली पड़ा है भवन

ढाई करोड़ का भवन, 33 लाख का फर्नीचर। इसके बावजूद मॉडल स्कूल में लटक रहे हैं ताले। केंद्र सरकार ने बिहार सरकार के साथ मिलकर सेंट्रल स्कूल की तर्ज पर मॉडल स्कूल के निर्माण की प्रक्रिया चार साल पहले शुरू की। करोड़ों का भवन बना दिया गया लेकिन स्कूल मॉडल नहीं बन पाये। मॉडल स्कूलों में परीक्षा के बाद बच्चों का नामांकन किया जाने वाला था। सरकार का मकसद गांवों के बच्चों को सेंट्रल स्कूल की तर्ज पर सर्वशिक्षा संपन्न बनाना था। मॉडल स्कूल में नौंवी से लेकर बारहवीं कक्षा के बच्चों को पढ़ाया जाने वाला था। स्कूल तो मॉडल नहीं बना। अलबत्ता करोड़ों की लागत से बने भवनों में ताले लगे हैं। सरकार ने खींचे कदम, शिफ्ट होंगे स्कूल दअरसल मॉडल स्कूल बनाने की दिशा में कदम बढ़ाने के बाद सरकार ने पैर खींच लिया। अब चूंकि भवन बनकर तैयार है। करोड़ों का भवन धूल फांक रहा है। इसलिए इन भवनों में समीप के स्कूल को शिफ्ट कर कक्षा के संचालन का निर्देश राज्य से दिया गया है।10 प्रखंडों में बना भवन: जिले के 14 प्रखंडों में मॉडल स्कूल बनाने के प्रस्ताव को मंजूरी नहीं मिली। धमदाहा, बड़हरा कोठी, बनमनखी में मॉडल स्कूल बनाने के लिए एग्रीमेंट के बावजूद टेंडर नहीं लग पाया। दस प्रखंड पूर्णिया ईस्ट, जलालगढ़, कृत्यानंद नगर, कसबा, श्रीनगर, डगरूआ, बायसी, बैसा, भवानीपुर, रूपौली में ढाई-ढाई करोड़ की लागत से स्कूल के भवन का निर्माण किया गया। इसमें सात प्रखंडों में फर्नीचर भी भेजे गये थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:purnia: Model school is not built on the lines of Central School