DA Image
हिंदी न्यूज़ › बिहार › पूर्णिया › प्रस्तावित नगर पंचायत पर आपत्ति के सत्यापन में पहुंचे वरीय उपसमाहर्ता
पूर्णिया

प्रस्तावित नगर पंचायत पर आपत्ति के सत्यापन में पहुंचे वरीय उपसमाहर्ता

हिन्दुस्तान टीम,पूर्णियाPublished By: Newswrap
Tue, 26 Jan 2021 04:01 AM
प्रस्तावित नगर पंचायत पर आपत्ति के सत्यापन में पहुंचे वरीय उपसमाहर्ता

प्रस्तावित नगर पंचायत पर आपत्ति के सत्यापन में पहुंचे वरीय उपसमाहर्ता

रूपौली। एक संवाददाता

पूर्णिया जिला अंतर्गत प्रस्तावित नगर पंचायत-रूपौली के प्रस्ताव से आहत रामपुर परिहट पंचायत की मुखिया रमावती देवी के द्वारा जिलाधिकारी के समक्ष आपत्ति दर्ज कराई थी। इस आपत्ति को लेकर सोमवार को वरीय उपसमाहर्ता सह नोड्ल पदाधिकारी अनुपम, अंचलाधिकारी राजेश कुमार के साथ रामपुर परिहट पंचायत पहुंच क्षेत्र का अवलोकन किया। उन्होंने दो राजस्व गांव सुपौली कामत और बरदघट्टा का भौतिक सत्यापन भी किया। वहीं रामपुर परिहट पंचायत भवन पहुंचकर मुखिया के द्वारा दिए गए आपत्ति के संबंध में सभी बिंदूओं पर जानकारी ली। इस संबंध में वरीय उपसमाहर्ता अनुपम ने बताया कि प्रस्तावित नगर पंचायत का स्थल जांच रिपोर्ट वरीय अधिकारियों को समर्पित कर दी जाएगी। आपत्ति को लेकर मुखिया रमावती देवी ने बताया कि ग्राम पंचायत अधिनियम की धारा 11(1) के अनुसार अंचलाधिकारी रुपौली के द्वारा प्रभावित ग्राम पंचायत के मुखिया से परामर्श नहीं लिया गया है और नगर पंचायत रुपौली का प्रस्ताव भेजा दिया गया है। जिससे संबंधित पंचायत के मुखिया के अधिकार का अतिक्रमण कर उपेक्षित किया गया हैं। जबकि प्रस्तावित नगर पंचायत रुपौली में दो राजस्व ग्राम जिनमे सुपौली कामत 185/3 तथा बरदघट्टा 259/1 को भी लिया गया है। यह दोनों राजस्व ग्राम बेचिरागी है। जिसका क्षेत्रफल 106 हेक्टेयर है जो कृषि योग्य भूमि है। जिसे नगरीय आवासीय बनाकर सरकार अधिक राजस्व संग्रह करने की योजना बनायी है जो बिहार नगरपालिका की धारा 3 (1) के प्रतिकूल है। वहीं मुखिया रमावती देवी ने अपने आपत्ति के बाबत बताया कि प्रस्तावित नगर पंचायत रूपौली के प्रसांगिक अधिसूचना के संबंध में अपनी सात सूत्री बातों का उल्लेख करते हुए आवेदन जिला पदाधिकारी कार्यालय को दिया गया है।

संबंधित खबरें