DA Image
30 सितम्बर, 2020|11:59|IST

अगली स्टोरी

कोरोना को परास्त कर केन्द्र पर पहुंचेंगे नीट परीक्षार्थी.

default image

कोरोना संक्रमण के भय को हराकर नीट के सीमांचल के परीक्षार्थी बिहार में बनाए दो सेंटर पटना व गया में परीक्षा देंगे। इसके अलावा सिल्लीगुड़ी में भी सीमांचल के छात्र परीक्षा देंगे। आगामी 13 सितम्बर को होने वाली नीट के एग्जाम को लेकर परीक्षार्थी के साथ अभिभावक अभी से ही परेशान हैं। कोरोना काल में परीक्षाकेन्द्र तक आखिर कैसे पहुंचे। आर्थिक रूप से सक्षम अभिभावक बच्चे को कोरोना संक्रमण से बचाकर परीक्षाकेन्द्र तक पहुंचाने और लेकर वापस आने के लिए निजी वाहन को सुरक्षित मान रहे हैं। वहीं कुछ अभिभावक संक्रमण से डरे-सहमे बस से जैसे-तैसे परीक्षाकेन्द्र तक पहुंचने का हौसला बच्चों को दिला रहे हैं। अभिभावकों का मलाल है कि कोरोना के चलते लगे लॉकडाउन में परीक्षार्थियों के परीक्षाकेन्द्र तक पहुंचने के लिए मध्यप्रदेश और ओडिशा समेत अन्य राज्यों में सरकार द्वारा बसों की व्यवस्था की गयी है, पर बिहार में सरकार को नीट के परीक्षार्थियों की समस्याओं की चिंता नही है।

दरअसल सीमांचल के चार जिलों के सैकड़ों छात्र-छात्राएं नीट की परीक्षा में भाग लेंगे। नीट परीक्षा को लेकर बिहार में मात्र दो परीक्षाकेन्द्र बनाए गए हैं। बिहार के इन दो परीक्षाकेन्द्र पटना व गया के अलावा निकटवर्ती होने के कारण सिल्लीगुड़ी के परीक्षाकेन्द्र पर भी सीमांचल के परीक्षार्थी परीक्षा देंगे। सबसे ज्यादा परेशान नीट एग्जाम सिल्लीगुड़ी के सेंटर पर देने वाले परीक्षार्थी हैं। चूंकि सिल्लीगुड़ी में ग्यारह व बारह सितम्बर को लॉकडाउन लगा हुआ है, ऐसे में एक दिन बाद तेरह सितम्बर को होने वाले परीक्षा में भाग लेने के लिए परीक्षार्थी के साथ-साथ अभिभावक किस तरह वहां पहुंचेंगे इसे लेकर परेशान हैं। सिल्लीगुड़ी जाने के लिए परीक्षार्थी के अभिभावक परीक्षा से तीन दिन पूर्व ही सिल्लीगुड़ी निकल जाने का सोच रहे हैं। सिल्लीगुड़ी पहुंचने के बाद होटल व खाने पीने के प्रबंध को लेकर अभिभावक चिंतित है। नीट परीक्षा देने वाली समीहा बताती हैं कि सिल्लीगुड़ी जाने के लिए वे अपने अभिभावक के साथ दस सितम्बर को सुबह पांच बजे ही बस से निकल जाएगी। सिल्लीगुड़ी में होटल में लगातार तीन दिनों तक रुकेगी और वहीं एग्जाम की तैयारी करते हुए परीक्षा देगी। परीक्षा की विशेष चिंता नहीं है, मगर वर्तमान समय में कोरोना महामारी के बढ़ते प्रकोप की चिंता अवश्य है। वहीं उनकी मां ने बताया कि बच्चे को सिल्लीगुड़ी तक लेकर जाना मौजूदा हालात में बहुत बड़ी समस्या बनी हुई है। वहीं नीट की परीक्षार्थी पल्लवी कुमारी बताती हैं कि पटना के परीक्षाकेन्द्र पर 13 सितम्बर को एग्जाम है। कैसे सेंटर पर पहुंचेंगे, यही सोच-सोचकर परेशान हैं। एक तो कोरोना संक्रमण का भय और दूसरी ओर लॉकडाउन के दौरान बस व सवारी गाड़ियों के साथ खाने-पीने और ठहरने के लिए होटल की व्यवस्था में दिक्कत। सभी समस्याओं से जूझते हुए परीक्षा देना और वापस घर आना है। वहीं पल्लवी के पिता विनोद मिश्र बताते हैं कि परीक्षाकेन्द्र तक सकुशल पहुंचने की चिंता अभी से ही हो रही है। आर्थिक मजबूरी के चलते प्राइवेट गाड़ी भाड़ा पर नहीं ले सकते हैं। परीक्षा से एक दिन पूर्व बस से पल्लवी को लेकर पटना निकलने की सोच रहे हैं। वहीं रिशप रंजन नीट का एग्जाम गया जिला में देंगे। गया सेंटर पर पहुंचने के लिए रिशप रंजन प्राइवेट गाड़ी का इस्तेमाल करेंगे। रिशप के पिता राकेश रंजन बताते हैं कि कोरोना वायरस के संक्रमण के भय से ही निजी गाड़ी से जाने का फैसला किया है। प्राइवेट गाड़ी रहेगी, तो कोरोना से सुरक्षित रहेंगे। साथ ही परीक्षाकेन्द्र तक आने-जाने में परेशानी नहीं होगी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Neet examinees will reach the center after defeating Corona