DA Image
11 जुलाई, 2020|8:10|IST

अगली स्टोरी

स्वास्थ्य सुविधाओं की बेहतर निगरानी करेगा दर्पण एप

स्वास्थ्य सेवाओं में बुनियादी एवं विश्वसनीय सुधार कर स्वास्थ्य सेवाओं की गुणवत्ता सुनिश्चित करने की दिशा में राज्य स्वास्थ्य विभाग द्वारा नया कदम उठाया गया है। इसके अंतर्गत दर्पण एप की शुरुआत की गई है। इसकी शुरुआत होने से स्वास्थ्य प्रदाताओं द्वार दी जा रही सेवाओं की रियल टाइम मॉनिटरिंग संभव हो पाएगी। मिली जानकारी में राज्य के स्वास्थ्य केन्द्रों द्वारा प्रदान की जा रही स्वास्थ्य सेवाओं एवं उनकी गुणवत्ता की प्रमाणिक आंकड़ों के आधार पर एवं नियमित रूप से समीक्षा होती रहे तथा सुधार के क्षेत्रों की पहचान हो एवं सही समय पर उच्चस्तरीय सहयोग एवं आवश्यक सुधारात्मक कार्रवाई सुनिश्चित की जाए। इसके लिए दर्पण एप प्रभावी साबित होगा। यह स्वास्थ्य सेवाओं को सुदृढ़ करने, जरूरतमंदों तक सेवा को पहुंचाने एवं गुणवत्ता सुनिश्चित करने में भी आसानी होगी। बेहतर पर्यवेक्षण में होगा सहयोगी बिहार सरकार एवं केयर इंडिया के संयुक्त प्रयास के फलस्वरूप स्वास्थ्य सेवा दर्पण प्लस नामक एप्लिकेशन को विकसित किया गया है। राज्य की स्वास्थ्य सेवाओं की ऑनलाइन मॉनिटरिंग टूल ‘दर्पण प्लस के सहयोग से स्वास्थ्य पर्यवेक्षक स्वास्थ्य संस्थाओं के पर्यवेक्षण के क्रम में समय-समय पर रियल टाइम डाटा द्वारा स्वास्थ्य सेवाओं का वास्तविक आकलन कर सकेंगे। स्वास्थ्य सेवा दर्पण प्लस एप्लिकेशन, दर्पण एप्लिकेशन का समुन्नत संस्करण है जो कि स्वास्थ्य संस्थानों की कार्य क्षमताओं के आकलन के लिए उपयुक्त है। इस एप्लिकेशन को सभी स्वास्थ्य पर्यवेक्षक इस्तेमाल कर सकेंगे। इस एंड्राइड एप्लिकेशन को फोन या टैबलेट जिसमें नवीनतम एंड्राइड सॉफ्टवेयर हो उस पर डाउनलोड कर चलाया जा सकता है। यह एप्लिकेशन सहायक पर्यवेक्षण के दौरान किसी भी स्वास्थ्य संस्था पर स्वास्थ्य सेवाओं की गुणवत्ता के आकलन के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। जिला स्तरीय स्वास्थ्य सुविधा होगी बेहतर जिला सिविल सर्जन डॉ. मधुसूदन प्रसाद ने बताया कि दर्पण एप की शुरुआत हालांकि पहले हुई मगर इन क्षेत्रों में कारगर के रूप में अब सामने आ रहा है। इससे स्वास्थ्य संबंधित सारी जानकारी ऑनलाइन होंगी। इसमें चिकित्सकों की उपस्थिति से लेकर अन्य स्वास्थ्य सुविधाओं की उपलब्धता के विषय में जानकारी मिल पाएगी। उन्होंने बताया इससे जिला स्तरीय स्वास्थ्य सेवाओं की बेहतर गुणवत्ता सुनश्चित करने में भी सहयोग मिलेगा। ऑनलाइन एवं ऑफलाइन दोनों मोड में होगा उपलब्ध इस संदर्भ में सीएफएआर के रिजनल कोर्डिनेटर योगश्वर कुमार जानकारी देते हुए बताते हैं कि इस एप्लिकेशन को ऑनलाइन और ऑफलाइन मोड में इस्तेमाल किया जा सकता है। परन्तु इसमें लॉगिन करने के लिए इंटरनेट का होना आवश्यक है। यह एप्लिकेशन जीपीएस से लैस है तथा इसके द्वारा फोटो प्रलेखन एवं मौजूदा सॉफ्टवेयर जैसे संजीवनी के साथ एकीकरण किया जा सकता है ताकि स्वत: प्रतिवेदित तथ्य की पुष्टि की जा सके। इस एप्लिकेशन के द्वारा पारदर्शिता एवं जवाबदेही का मूल्यांकन किया जा सकेगा।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Mirror app will better monitor health facilities in purnea