DA Image
हिंदी न्यूज़ › बिहार › पूर्णिया › सबसे कम उम्र के मुखिया बने इंजीनियर सागर अलीम
पूर्णिया

सबसे कम उम्र के मुखिया बने इंजीनियर सागर अलीम

हिन्दुस्तान टीम,पूर्णियाPublished By: Newswrap
Mon, 11 Oct 2021 11:11 PM
सबसे कम उम्र के मुखिया बने इंजीनियर सागर अलीम

भवानीपुर। एक संवाददाता

आज की युवा पीढ़ी भी बड़ी नौकरी और बड़े संस्थानों में पढ़ाई छोड़कर पंचायत चुनाव के मैदान में उतर रहे हैं। इतना ही नहीं यहां के मतदाता भी इन युवा पीढ़ी पर विश्वास जताते हुए उन्हें विजयी बनाने का काम कर रहे हैं। युवा और शिक्षित उम्मीदवारों को इस बार प्रखंड क्षेत्र की जनता ने सर्वोपरी मानते हुए उन्हें विजयी बनाया है। हैदराबाद की एक बड़ी कंपनी में मेकेनिकल इंजिनियर की नौकरी छोड़ सागर अलीम ने मुखिया पद से जीत दर्ज की है। प्रखंड क्षेत्र के सबसे कम उम्र के मुखिया बने इंजिनियर सागर अलीम प्रखंड क्षेत्र के सबसे हॉट सीट माने जानेवाले जाबे पंचायत से सफलता हासिल की है। महज 24 वर्ष की आयु में पहली बार चुनावी मैदान में उतरे इंजिनियर सागर अलीम ने प्रखंड के चर्चित मुखिया शमीम आलम को करारी शिकस्त देते हुए मुखिया पद का चुनाव जीता है। इनके पिता अलीमुद्दीन उर्फ दिल्लो बाबु भी जाबे पंचायत से मुखिया रहे थे और रूपौली विधानसभा क्षेत्र से अपना भाग्य आजमाते हुए दूसरा स्थान प्राप्त किया था।

सबसे कम उम्र की जिप सदस्य

प्रखंड क्षेत्र के जिला परिषद प्रादेशिक निर्वाचन क्षेत्र संख्या 7 से चुनावी मैदान में उतरी रूपौली विधायक बीमा भारती एवं बाहुबली अवधेश मंडल की पुत्री रानी भारती को भी यहां के मतदाताओं ने भारी बहुमत से जिताने का काम किया है। देश की चर्चित शिक्षण संस्थान आइआइएमटी नोएडा से बीबीए की पढ़ाई कर रही रानी भारती पहली बार पंचायत चुनाव में अपना भाग्य आजमा रही थी। अपनी मां विधायक बीमा भारती की राजनीतिक विरासत को संभालने के लिए चुनावी मैदान में उतरी रानी भारती को मतदाताओं ने प्रचंड मत से जिताया है। रानी भारती ने यहां से निवर्तमान जिप सदस्य कद्दावर जदयू नेता आजाद आलम की पत्नी को काफी लम्बे अन्तराल से हराया है।

संबंधित खबरें