ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहार पूर्णियाडोर टू डोर कचरा उठाव : बार-बार निविदा भी निष्पादन नहीं

डोर टू डोर कचरा उठाव : बार-बार निविदा भी निष्पादन नहीं

पूर्णिया। हिन्दुस्तान संवाददाता पिछले तीन साल में निगम क्षेत्र से डोर टू डोर...

डोर टू डोर कचरा उठाव : बार-बार निविदा भी निष्पादन नहीं
हिन्दुस्तान टीम,पूर्णियाFri, 19 Mar 2021 04:43 AM
ऐप पर पढ़ें

पूर्णिया। हिन्दुस्तान संवाददाता

पिछले तीन साल में निगम क्षेत्र से डोर टू डोर कचरा उठाव के लिए बार-बार निविदा निकाली जा रही है। लेकिन उसका निष्पादन नहीं किया जा रहा है। निगम की इस कार्यशैली पर प्रश्न उठाते हुए वार्ड पार्षद सरिता राय ने जिलाधिकारी को आवेदन दिया है। जिसमें उन्होंने कहा है कि कुछ खास लोगों को फायदा पहुंचाने के लिए ऐसा किया जा रहा है। वार्ड नंबर 22 की वार्ड पार्षद सरिता राय ने जिलाधिकारी को दिए आवेदन में कहा कि लेखा पदाधिकारी और नगर आयुक्त के कारण निगम की जनता डोर टू डोर कचरा उठाव की सुविधा से वंचित है। उन्होंने लिखा है कि पिछले तीन साल में डोर टू डोर कचरा उठाव के लिए कई बार निविदा निकाली गई है। लेकिन दोनों अधिकारियों के कारण निविदा में विशुद्धियां दिखा कर उसे रोक दिया जाता है। वार्ड पार्षद ने सवाल किया है कि डोर टू डोर में क्रय समिति की भूमिका कुछ नहीं फिर से इस निविदा के दौरान क्रय समिति की भूमिका क्यों होती है। जबकि डोर टू डोर कचरा उठाव न तो किसी प्रकार का क्रय होता है और न ही विक्रय होता है। ऐसा प्रतीत होता है कि पांच साल से अपने पद पर कार्यरत लेखा पाल कुछ खास लोगों को लाभ पहुंचाने के लिए ऐसा कर रहे हैं। दूसरी बात जब भी डोर टू डोर चकरा उठाव की बात होती है तब निगम के 36 वार्ड के लिए निविदा निकाली जाती है। बाकी दस वार्ड का क्या होगा इस पर कोई चर्चा नहीं होती है। वार्ड पार्षद ने जिलाधिकारी से मांग की है कि डोर टू डोर कचरा संग्रहण एवं निष्पादन के निविदा संबंधी संचिकाओं की जांच एवं उसमें अधिकारियों के मिली भगत की भी जांच की जाए।