DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिहार  ›  पूर्णिया  ›  जलजमाव से निपटने के लिए निगम के पास कोई योजना नहीं
पूर्णिया

जलजमाव से निपटने के लिए निगम के पास कोई योजना नहीं

हिन्दुस्तान टीम,पूर्णियाPublished By: Newswrap
Thu, 27 May 2021 04:22 AM
जलजमाव से निपटने के लिए निगम के पास कोई योजना नहीं

ड्रेनेज सिस्टम का अभाव, स्टॉर्म वाटर ड्रेनेज योजना भी अधर में

भोलानाथ पुल के नीचे से पानी निकलने में लग जाते हैं छह से सात घंटे

बाजार में जलजमाव के बाद पानी को निकलने के लिए छोड़ दिया जाता है

भागलपुर, वरीय संवाददाता

बारिश का मौसम आ रहा है। अगले तीन दिनों तक चक्रवात तूफान यास के कारण भी तेज बारिश होने की आशंका जतायी गई है, लेकिन नगर निगम के पास जलजमाव से निपटने के लिए कोई खास योजना नहीं है। स्थिति यह है कि अकेले भोलानाथ पुल के नीचे से पानी निकालने में छह से सात घंटे का समय लग जाता है। शहर में ड्रेनेज सिस्टम नहीं रहने के कारण यह स्थिति है। कई बड़े नालों का निर्माण और सफाई नहीं हुई है।

जलजमाव से निजात पाने के लिए शहर में स्मार्ट वाटर ड्रेनेज सिस्टम का भी प्रावधान किया गया है, लेकिन यह योजना भी अधर में है। अभी तक इसका काम प्रारंभ नहीं हुआ है। जलजमाव के कारण शहर के मध्य हिस्से में लोहापट्टी तालाब बन जाता है। यहां से पानी निकालने के लिए निगम के पास कोई योजना नहीं है। धीरे-धीरे पानी अपने आप सूखता है तो जलजमाव खत्म होता है। कहा गया था कि यहां नाला निर्माण के बाद जलजमाव से मुक्ति मिल जाएगी, लेकिन नाला निर्माण हो जाने के बाद भी जलजमाव की वही स्थिति है। पानी नहीं निकल पाता है। स्थानीय दुकानदार बताते हैं कि नाले की पूरी तरह सफाई नहीं करायी जाती है। इस कारण पानी नहीं निकल पाता है। शहर के दक्षिणी हिस्से में डिक्शन मोड़ से लेकर शीतला स्थान चौक तक का नाला कच्ची है। इसके आगे भी नाले का निर्माण नहीं हुआ है। इस कारण पानी नहीं निकल पाता है। बारिश के बाद इशाकचक शीतला स्थान चौक के बीच नाले का पानी सड़क पर बहने लगता है। दक्षिणी क्षेत्र के सिकंदरपुर हरिजन टोला सहित कई सड़कों की यही स्थिति है। पानी निकलने का साधन नहीं है। भीखनपुर में भट्ठा रोड में बारिश के बाद नाले का पानी सड़क पर आ जाता है। लोग उसी पानी से होकर गुजरते हैं। बारिश के बाद लगभग दो घंटे तक यही स्थिति रहती है। जब पानी निकलता है तो कीचड़ के कारण सड़क पर चलना मुश्किल हो जाता है। यहां सड़क के दोनों ओर नाले का निर्माण नहीं हुआ है। कच्ची नाला के कारण पानी निकल नहीं पाता है। उर्दू बाजार में हथिया नाला का निर्माण चल रहा है, लेकिन इसके आगे नाला कच्ची है। यहां बारिश के बाद सड़क पर घुटना भर पानी जमा हो जाता है। सड़क पर रेत चलता है। दक्षिणी क्षेत्र के हसनगंज रोड की भी यही स्थिति है।

तूफान को लेकर की गई है तैयारी

प्रभारी नगर आयुक्त प्रफूल चन्द्र यादव का कहना है कि यास तूफान के मद्देनजर तैयारी की गई है। निचले इलाकों में जहां भी जलजमाव होता है वहां से पानी निकालने के लिए मैन पावर रिजर्व रखे गए हैं। आगामी बरसात के मद्देनजर नालों की सफाई करायी जा रही है। बरसात के पहले सभी नालों की उड़ाही पूरी हो जाएगी।

संबंधित खबरें