DA Image
25 सितम्बर, 2020|12:19|IST

अगली स्टोरी

केले के रेशे से बनेंगे कपड़े व बैग.

default image

केले के रेशे से कपड़े व बैग तैयार होंगे। धमदाहा अनुमंडल में बहुतायत में केले की खेती होती है। यहां जल्द ही बनाना प्रासेसिंग यूनिट लगने वाली है। केले के फायबर यहां तैयार होंगे। इससे बैग, कारपेट, कपड़े समेत अन्य जरूरी सामग्री बनायी जाएगी। इसके बाद श्रमिकों को रोजगार तो मिलेगा ही केले के उत्पादन करने वाले किसानों को भी मुनाफा पहुंचेगा। धमदाहा में बनाना प्रोसेसिंग के दो कलस्टर बनाए जाने वाले हैं। प्लांट के लिए मशीनरी जल्द ही चेन्नई से पहुंचने वाली है। अगले सप्ताह इसका उद्घाटन किया जाने वाला है। वरीय उपसमाहर्ता सुनीता बताती हैं कि केले के फायबर से कैरी बेग, कपड़ा, कारपेट, बायो प्लास्टिक भी बनता है। इससे वर्मी कंपोस्ट भी बनेगा। यह किसानों के लिए फायदेमंद होगा। फिलहाल केले के फायबर निकालने के लिए दो यूनिट यहां लगने वाली है। इसके बाद अन्य सामग्रियों के लिए भी मशीनरी लगाने की योजना है। श्रमिकों पर निर्भर करेगा कि वह स्किल डेवलपमेंट के अलावा खुद को कितना अधिक अपग्रेड कर कर सकते हैं ताकि अधिक से अधिक लोगों को इसका लाभ मिल सके। इसके अलावा कसबा में बैग और भवानीपुर प्रखंड में लकड़ी उपस्कर के कलस्टर की भी शुरूआत होने वाली है। जिला औद्योगिक नवप्रवर्तन योजना के तहत डगरूआ प्रखंड में टौली कोला और जलालगढ़ प्रखंड में खाता हाट एकम्बा में रेडीमेड गारमेंट्स कलस्टर का उद्घाटन जिलाधिकारी राहुल कुमार के द्वारा किया जा चुका है।

समूह का गठन, अगले सप्ताह उद्घाटन

जिला उद्योग केंद्र के महाप्रबंधक संजय कुमार वर्मा ने कहा कि धमदाहा में बनाना प्रोसेसिंग कलस्टर के लिए समूह का गठन कर लिया गया है। जिला प्रशासन के द्वारा इनके साथ इकरारनामा किया गया है। जिला प्रशासन के द्वारा प्रति कलस्टर मशीन के अलावा वर्किंग कैपिटल भी दी जा रही है। मशीन इसी सप्ताह पहुंच जाएगी। अगले सप्ताह उद्घाटन होगा। एक साल तक सरकारी भवन में कलस्टर चलेगा। उन्हें किराया नहीं देना होगा।

रेडीमेड गारमेंटस कलस्टर को मास्क का आर्डर

कोरोना महामारी के दौरान दिल्ली-मुंबई समेत अन्य राज्यों से बिहार लौटे हुनरमंद लोगों को अब घर में ही रोजगार के अवसर मुहैया हो रहे हैं। दो कलस्टर के बाद जिला में शेष तीन कलस्टर जल्द ही शुरू हो जाएगा। श्रमिकों के द्वारा तैयार सामान के लिए बाजार भी उपलब्ध कराने की कोशिश की जा रही है। डगरूआ और जलालगढ़ में रेडीमेड गारमेंटस कलस्टर चलाने वालों को चुनाव कर्मियों के लिए मास्क बनाने का भी आर्डर दिया जाने वाला है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Clothes and bags will be made from banana fibers