DA Image
28 सितम्बर, 2020|7:58|IST

अगली स्टोरी

चाइल्ड लाइन के सदस्यों ने चार भटके बच्चों को किया बरामद.

default image

सदर थाना क्षेत्र के अब्दुल्ला नगर कालीघाट से चाइल्ड लाइन के टोल फ्री नंबर 1098 पर दी गई सूचना पर चार भटकते बच्चों को सदस्यों ने बरामद किया है। चाइल्ड लाइन के सदस्य मयूरेश गौरव ने बताया कि सूचना मिलते ही बच्चे के पास पहुंचकर उन्हें संरक्षण में लेकर सदर थाना में सनहा दर्ज करवाया गया। इसके बाद बरामद बच्चे की थर्मल स्क्रीनिंग टाउन हॉल पूर्णिया में ले जाकर करवाया गया। काउंसिलिंग की गयी तो बच्चे ने बताया कि गांव के एक लड़के ने बहला-फुसलाकर पांच हजार के मजदूरी पर मखाना फोड़ने के लिए हमलोगों को दरभंगा से खुश्कीबाग लाया था। कुछ दिन काम करने के बाद मालिक से रुपया मांगा तो रुपया नहीं दिया। रुपया मांगने पर मारने पीटने लगा और सुबह तीन बजे से लेकर रात 12 बजे रात तक मखाना फोड़ी का काम करवाता था। ठीक ढंग से खाना भी नहीं दिया जाता था। चारों बच्चे की उम्र क्रमशः 17 वर्ष, 12 वर्ष, 12वर्ष, 12 वर्ष है। तीन बच्चे दरभंगा जिला के रहने वाले हैं एक सहरसा जिला का रहने वाला है। बच्चे के मिलने की सूचना बाल कल्याण समिति सदस्य संतोष कुमार सिंह को दी गई। दो बच्चे दरभंगा जिले के रहने वाले परिजन से संपर्क होने पर सौंप दिया गया है। दो बच्चे के अभिभावक नहीं आने पर बाल कल्याण समिति में प्रस्तुत कर बालगृह में तत्काल आश्रय दिया गया है। मयूरेश गौरव ने बताया की बच्चों को मखाना फैक्ट्री में दलाल के माध्यम से लाया जाता है। बच्चों को पर्याप्त भोजन और रुपया नहीं दिया जाता है। कभी-कभी मारपीट भी की जाती है। इस मौके पर चाइल्ड लाइन के मयुरेश गौरव, मिथिलेश कुमार मौजूद थे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Child line members recovered four stray children