ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहार पूर्णियादुर्गा पूजा के बाद परिजन कर रहे थे सेहरा सजाने की तैयारी अचानक हो गई हत्या

दुर्गा पूजा के बाद परिजन कर रहे थे सेहरा सजाने की तैयारी अचानक हो गई हत्या

पूर्णिया। हिन्दुस्तान संवाददाता सोमवार की रात्रि के हाट सहायक थाना क्षेत्र के बाड़ी...

दुर्गा पूजा के बाद परिजन कर रहे थे सेहरा सजाने की तैयारी अचानक हो गई हत्या
हिन्दुस्तान टीम,पूर्णियाWed, 15 Sep 2021 05:10 AM
ऐप पर पढ़ें

पूर्णिया। हिन्दुस्तान संवाददाता

सोमवार की रात्रि के हाट सहायक थाना क्षेत्र के बाड़ी हाट मोहल्ले में निजी बैंक कर्मी सन्नी सिन्हा उम्र 25 वर्ष की हत्या मामले में पुलिस की टीम को 13 घंटे से अधिक समय तक जद्दोजहद करना पड़ा। पुलिस अधीक्षक के द्वारा 15 दिनों के अंदर आरोपियों के पकड़ने और गिरफ्तारी नहीं होने पर घर की कुर्की जब्ती करने का आश्वासन मिलने के बाद परिजन ने शव का दाह संस्कार किया। पुलिस की टीम ने हत्याकांड में शामिल एक आरोपी को सज्जाद कॉलोनी से हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। मुख्य अभियुक्त मो. लाडला आलम और मो. लल्ला आलम अभी भी फरार है। पुलिस की टीम के द्वारा आरोपियों की गिरफ्तारी को लेकर छापेमारी की जा रही है। इस मामले की मॉनिटरिंग सदर एसडीपीओ एसके सरोज के द्वारा की जा रही है। पुलिस अधीक्षक दयाशंकर ने बताया कि युवक की हत्या मामले में पुलिस की टीम को दिशा निर्देश दिए गए हैं। एक आरोपी को पुलिस की टीम हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। जल्द ही अन्य फरार अभियुक्तों की भी गिरफ्तारी कर ली जाएगी।

दुर्गा पूजा के बाद सन्नी की होने वाली थी शादी

सन्नी के परिजन उनके लिए कई जगह लड़की पसंद कर रहा था। बताया जाता है कि दुर्गा पूजा के बाद उनकी सगाई होने वाली थी। सन्नी सिन्हा निजी बैंक में काम करता था लेकिन हाल के ही दिनों में उनकी कॉन्ट्रैक्ट में नौकरी सदर अस्पताल में होने वाली थी। इस वजह से घर के लोग भी काफी खुश थे। घर का सबसे बड़ा पुत्र रहने की वजह से परिजन भी चाह रहे थे कि जल्दी ही उनकी शादी धूमधाम से कर दी जाए ताकि घर में बहू आए। लेकिन अचानक उनकी मौत के बाद माता-पिता और छोटे भाई वह अभी भी बेसुध है ।

....बिना बुलाए ही खाने के लिए पहुंच गया था सभी अपराधी

बिना बुलाए ही भोज खाने के लिए सभी अपराधी घर के थर्ड फ्लोर पर पहुंच गया था। जब इस पर घर वालों की नजर पड़ी और उनसे पूछताछ की गई तो अपराधियों ने बताया कि उनके छोटे भाई अंशु ने उन लोगों को भोज खाने का आमंत्रण दिया है। मौके पर ही जब सन्नी ने अंशु से पूछा कि क्या इन लोगों को बुलाया गया है तो उनके द्वारा मना कर दिया गया है। इसके बाद दोनों में तू-तू मैं-मैं हुई और अपराधियों ने देख लेने की बात कहा। परिजनों के दर इसकी सूचना तुरंत पुलिस की टीम को दी गई। पुलिस की टीम आया और दोनों पक्षों को समझा-बुझाकर मामले को शांत करा दिया। लेकिन पुलिस के जाते ही अपराधियों ने छाती में चाकू गोदकर सनी की हत्या कर फरार हो गया।

......भांजी छठी को लेकर काफी खुश था सन्नी

बताया जाता है कि सन्नी दो भाई और एक बहन था। सबसे बड़ा पुत्र सन्नी ही था। उनकी सबसे छोटी बहन की शादी दो वर्ष पहले हुई थी और उनके लड़की होने के जश्न में पार्टी का आयोजन सोमवार को किया गया था। बताया जाता है कि भांजी की छठी को लेकर सन्नी काफी खुश था। काफी धूमधाम से कार्यक्रम का आयोजन भी किया था। 300 से अधिक लोगों के खाने की व्यवस्था की गई थी। सभी के आवभगत में सन्नी ही लगा हुआ था। घर के भी अधिकांश लोगों ने भोजन नहीं किया था। अचानक इस तरह की घटना के बाद आसपास के लोगों के घरों में भी मातम छा गया।

जल्द हो अपराधियों की गिरफ्तारी

भाजयुमो के जिलाध्यक्ष परितोष भारती ने बयान जारी कर कहा है कि युवा सन्नी की हत्या जिस बर्बरता से की गई है । ऐसे अपराधियों को सख्त से सख्त सजा मिलनी चाहिए। उन्होंने कहा कि जल्द ही पुलिस की टीम को फरार चल रहे दोनों और मुख्य अभियुक्त को पकड़ना चाहिए। उन्होंने पुलिस अधीक्षक से आग्रह किया है कि ऐसे आरोपियों को अविलंब गिरफ्तार कर जेल के अंदर डालें नहीं तो आने वाले समय में और भी इसके गंभीर परिणाम समाज के अन्य लोगों को भुगतना पड़ सकता है। उन्होंने बताया कि इस हत्याकांड में शामिल जो भी अपराधी है सबके खिलाफ कठोर कार्रवाई होनी चाहिए। उन्होंने बताया कि अधिकांश आरोपियों की पहचान स्थानीय लोगों के द्वारा कर ली गई है और उसका फोटो भी प्रशासन को मुहैया कराया गया है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें