DA Image
25 जनवरी, 2020|1:29|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

60 दिनों बाद खेल हुआ खत्म, एकलव्य केंद्र शुरू.

default image

जिले के जिला स्कूल परिसर में चल रहे एकलव्य केन्द्र दो माह के बाद फिर से शुरू हो गया। इस दौरान पिछले दो माह से यहां के केन्द्र के खिलाड़ियों को खेल अभ्यास से वंचित रहना पड़ा। हालांकि केन्द्र के खिलाड़ियों को अन्य माध्यमों के जरिए यहां से निकलकर दूर दराज में भाग लेने के लिए मौका तो नहीं गंवाया बल्कि खेल को नियमिति रूप से आगे बढ़ाने के लिए खेल अभ्यास पर ग्रहण लग गया। हालांकि गुरुवार को इस केन्द्र को सुचारू रूप से चलाने के लिए खोल दिया गया है। इस संबंध में एकलव्य केन्द्र के अधीक्षक ब्रजेश कुमार ने बताया कि केन्द्र में संचालन के लिए बजट की परेशानी को लेकर बीच के दिनों में बंद हो गया था। इसमें सात लाख के बजट का मामला फंसा हुआ था। इससे इसके संचालन में दिक्कते आ रही थी। उन्होंने बताया कि जिला फुटबॉल संघ के सचिव सह सदस्य संचालन समिति अजीत कुमार सिंह ने पहल करते हुए अधिकारियों से बातचीत किया है और शीघ्र भुगतान कराने की दिशा में सकारात्मक निष्कर्ष पर पहुंचे हैं। इस संबंध में अजीत सिंह ने भी बताया कि केन्द्र के बंद हो जाने से जिले का दुर्भाग्य होगा। इसलिए यह केन्द्र चले इस दिशा में प्रयास किया गया है कि जो परेशानी उसे दूर किया जाए ताकि केन्द्र चल सके। इसी प्रयास के तहत इसे खोलने में सहयोग के लिए कदम बढ़ाया गया है। इधर, जिला खेल पदाधिकारी रणधीर कुमार ने बताया कि बजट को नियमित और नियमानुकुल नहीं दिए जाने के कारण भुगतान संबंधी मामला फंसा हुआ था। इस मामले को लेकर संचालन करने की दिशा में नियमित रूप से जानकारी दी जाती थी कि एकलव्य केन्द्र के संचालन के लिए बजट की प्रक्रिया को 1 से 10 दिनों के अंदर जमा कर दें जो की नहीं हो रहा था। एकबारगी छह माह का बिल समिट किया जाता था। इससे भुगतान की परेशानी खड़ी हो जाती थी। इस कारण संचालन के लिए बजट का मामला फंस जाता था। अब जानकारी मिली है कि केन्द्र को खोला गया है। नियमानुकुल केन्द्र संचालन और बजट की प्रक्रिया होगी तो निश्चित रूप से यह केन्द्र सुचारू रूप से चलेगा। विदित हो कि बीच के दिनों में इस केन्द्र के बंद हो जाने से खिलाड़ियों को केन्द्र छोड़कर खिलाड़ियों को अपने घर जाना पड़ा। जबकि इस केन्द्र की अच्छी उपलब्धी है। केन्द्र में शामिल बच्चों ने अपने खेल प्रतिभा से राज्य से लेकर राष्ट्रीय स्तर तक पहचान दिलाने में अहम भूमिका निभाई है और अभी भी अपने प्रदर्शन से इसे आगे बढ़ा रहे हैं। केन्द्र में कुल 24 खिलाड़ी है। इन खिलाड़ियों में 3 खिलाड़ी में गुलशन कुमार, बिटका किस्कु, मनोज बास्की पहुंच चुके हैं। जबकि शेष खिलाड़ी को सूचना कर दी गई है। दो तीन दिनों में सभी खिलाड़ी केन्द्र में पहुंच जाएंगे।

केन्द्र के चार खिलाड़ी खेल रहे खेलो इंडिया

जिला स्कूल परिसर में चले रहे एकलव्य प्रशिक्षण केन्द्र के खिलाड़ियों को जिले से निकलकर राज्य और राष्ट्रीय स्तर पर उपलब्धि हासिल करने का रिकार्ड रहा है। इस केन्द्र के चार खिलाड़ी और एक एथलेटिक्स क्लब के खिलाड़ी कुल पांच खिलाड़ी खेलो इंडिया में प्रदर्शन करने के लिए गए हैं। इनमें एकलव्य केन्द्र के जितु कुमार, गंगा वास्की, विनोद टुडू, अभिमन्यु हांसदा व एथलेटिक्स क्लब के मानवेल किसकु शामिल हैं। इनके अलावा इन खिलाड़ियों का पिछले वर्ष का रिकार्ड भी अच्छा रहा है। यहां के खिलाड़ी वर्ष 2018 में अंडर 17 में नेशनल स्तर पर द्वितीय स्थान प्राप्त किया है। इसके अलावा अंडर 14 और अंडर 19 में भी स्टेट लेबल तक पहुंच बनाई। इसके बाद केन्द्र के खिलाड़ी अगरतला, त्रिपुरा भी खेलने जायेंगे। इस तरह से इस केन्द्र की उपलब्धि जिले और राज्य में बेहतर रही है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:60 days later the game is over Ekalavya center started